News Nation Logo

38 पाकिस्तानी आतंकी जम्मू-कश्मीर में, अब चुन-चुन कर मारेंगे सुरक्षा बल

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक 4 आतंकी श्रीनगर, 3 कुलगाम, 10 पुलवामा, 10 बारामूला में और 11 आतंकी कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में छिपे हो सकते हैं.

Written By : विजय शंकर | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 13 Nov 2021, 11:40:53 AM
J K

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के पोषित-पल्लवित आतंकी हैं सक्रिय. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • जम्मू-कश्मीर में लश्कर के 27 और 11 जैश के आतंकी
  • अलग-अलग जगहों पर छिप दे रहे वारदातों को अंजाम
  • निशाने पर सुरक्षाबल ही नहीं बल्कि प्रवासी भारतीय भी 

नई दिल्ली:

इसमें अब कुछ भी छिपा नहीं है कि पाकिस्तान (Pakistan) अपनी नापाक साजिशों से भारत के खिलाफ लगातार जहर उगल रहा है. खासकर जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के खास दर्जे अनुच्छेद 370 को मोदी सरकार (Modi Government) की ओर से वापस लेने के बाद तो उसकी तिलमिलाहट ज्यादा बढ़ गई है. वह लगातार अपने पोषित-पल्लवित आतंकी संगठनों के जरिए घाटी की शांति बिगाड़ने की साजिश कर रहा है. टार्गेट किलिंग से लेकर जम्मू-कश्मीर के युवाओं को बरगला कर उन्हें आतंकवाद के रास्ते धकेलने का प्लान तो अब सभी के सामने ही है. अब खुफिया इनपुट मिला है कि जम्मू-कश्मीर के 38 पाकिस्तानी आतंकी सक्रिय हैं, जिनकी पूरी लिस्ट सुरक्षा बलों के पास है. सूत्र बताते हैं कि इन आतंकियों के खिलाफ बड़े एक्शन की तैयारी सुरक्षा बल कर रहे हैं. 

लश्कर के 27 और जैश के 11 आतंकी
सूत्रों के मुताबिक खुफिया रिपोर्ट में 38 पाकिस्तानी आतंकियों की मौजूदगी जम्मू-कश्मीर में बताई गई है. इनमें 27 लश्कर के और 11 जैश के आतंकी हैं. ये आतंकी घाटी में अलग-अलग जगहों पर छिपे हो सकते हैं, जहां से ये वारदातों को अंजाम भी दे रहे हैं. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक 4 आतंकी श्रीनगर, 3 कुलगाम, 10 पुलवामा, 10 बारामूला में और 11 आतंकी कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में छिपे हो सकते हैं. अब इन आतंकियों का ढूंढ-ढूंढ कर एकाउंटर करने की तैयारी है. सूत्रों के मुताबिक आतंकवादी कश्मीर में डर और अविश्वास का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. खास बात ये है कि पाकिस्तान चाहता है कि कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद वाले हालात तैयार हो जाएं. 

यह भी पढ़ेंः पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के उद्घाटन के लिए तैयारियां शुरू, हरक्यूलिस विमान से पहुंचेंगे पीएम मोदी 

आतंकी संगठनों ने तेज की गतिविधियां
हाल-फिलहाल घाटी में युवाओं को आतंकी संगठनों में भर्ती करने के प्रयास बढ़े हैं, लेकिन सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से अलर्ट हैं और अपनी प्लानिंग के तहत कार्रवाई को अंजाम देने में जुटी हैं. दरअसल जम्मू-कश्मीर को अशांत करने के लिए पाकिस्तान लगातार अपनी रणनीति में बदलाव कर रहा है. पहले एके-47, आईईडी और हैंड ग्रेनेड के हमले से सुरक्षाबलों को निशाना बनाया जाता था, लेकिन अब रिवॉल्वर से टार्गेट किलिंग की घटनाएं हो रही हैं. पाकिस्तान के निशाने पर सिर्फ सुरक्षाबल ही नहीं बल्कि प्रवासी भारतीय भी हैं, जो कश्मीर में छोटे-मोटे रोजगार कर अपनी आजीविका चलाते हैं.

First Published : 13 Nov 2021, 11:37:54 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.