News Nation Logo
जहां जातिवाद, वंशवाद और परिवारवाद हावी होगा, वहां विकास के लिए जगह नहीं होगी: योगी आदित्यनाथ पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की गृहमंत्री अमित शाह आज यूपी दौरे पर रहेंगे दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

तमिलनाडु में भारी बारिश से 3,500 हेक्टेयर की फसल नष्ट

तमिलनाडु में भारी बारिश से 3,500 हेक्टेयर की फसल नष्ट

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 11 Nov 2021, 02:50:01 PM
3,500 hectare

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

चेन्नई: तमिलनाडु में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश से करीब 55,000 हेक्टेयर भूमि जलमग्न हो गई है, जिसमें से 3,500 हेक्टेयर में फसल नष्ट हो गई है।

राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, लगभग 3500 हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचा है और इससे हम प्रभावित होंगे। हालांकि, हमें कुल नुकसान का पता लगाने के लिए विस्तार से अध्ययन करना होगा। बारिश और हवाएं थमने के बाद आने वाले दिनों में मुआवजा और अन्य कारकों पर फैसला किया जाएगा।

भारी बारिश से भारी मात्रा में फसल नष्ट होने से केरल जैसे पड़ोसी राज्यों में सब्जियों की आपूर्ति भी खतरे में पड़ गई है।

तमिलनाडु किसान संघ के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया, केरल को सब्जियों की आपूर्ति में गिरावट आई है और एक मोटे अनुमान के मुताबिक आपूर्ति 60 फीसदी से अधिक प्रभावित हुई है। इन नुकसानों की भरपाई कैसे की जा सकती है, यह एक मिलियन डॉलर का सवाल है।

तमिलनाडु के किसान जो कोविड महामारी की दूसरी लहर के बाद घाटे की भरपाई करना चाह रहे थे, वे अब अनिश्चित भविष्य की ओर देख रहे हैं।

चेंगलपट्टू में सब्जी किसान संघ के सचिव, सेल्वा गणपति ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, तमिलनाडु के किसान धीरे-धीरे महामारी से उबर रहे थे, लेकिन अब अचानक हुई बारिश ने हमारी सभी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। पता नहीं कब हमें मुआवजा मिलेगा। राजस्व मंत्री पहले ही कह चुके हैं कि सरकार बारिश के बाद फसलों को हुए नुकसान का आकलन करेगी और हम उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार हमें बेहतर तरीके से मुआवजा देगी।

मुख्यमंत्री, एम.के. स्टालिन ने घोषणा की है कि उनकी सरकार मूसलाधार बारिश से प्रभावित सभी लोगों का समर्थन करेगी और उनकी देखभाल करेगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 11 Nov 2021, 02:50:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो