News Nation Logo

बांग्लादेश : मंदिर पर हमले में 1 की मौत, 30 घायल

बांग्लादेश : मंदिर पर हमले में 1 की मौत, 30 घायल

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Oct 2021, 10:15:01 AM
3 killed

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

ढाका: बांग्लादेश के नोआखली में मंदिरों पर हुए हमलों में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 30 अन्य घायल हो गए है।

घटना शुक्रवार को चौमुहानी इलाके की है, जहां स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है।

इस बीच, बांग्लादेश में हिंदू नेताओं ने घोषणा की कि वे पुलिस की मौजूदगी में जेएम सेन हॉल के पूजा स्थल की तोड़फोड़ के विरोध में दुर्गा की मूर्तियों का विसर्जन नहीं करेंगे। इतना ही नहीं नेताओं ने एक पुलिस अधिकारी को हटाने की भी मांग की है।

हिंदू, बौद्ध, ईसाई एकता परिषद के नेता अधिवक्ता राणा दासगुप्ता ने शनिवार को चटगांव में आधे दिन की हड़ताल का आह्वान किया।

दासगुप्ता ने शुक्रवार शाम आईएएनएस को बताया कि चटगांव प्रेस क्लब में शनिवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस में विवरण की घोषणा की जाएगी।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जुमे की नमाज के बाद लोगों के एक समूह ने अंदरकिला जुम्मा मस्जिद के गेट पर एक सभा की और फिर जुलूस में जेएम सेन हॉल की ओर मार्च किया था।

जुलूस ने चौराहे पर पुलिस बैरिकेड्स को तोड़कर जेएम सेन हॉल के बंद गेट को तोड़ने का प्रयास किया था।

फिर वे ईंट-पत्थर फेंकने लगे और सड़क के चारों ओर की दीवारों पर लगे पूजा के बैनर फाड़ दिए।

गवाहों में से एक, एडवोकेट कंकन देव ने आईएएनएस को बताया कि हमने दोपहर 2.30 बजे के बाद मूर्तियों को समुद्र में विसर्जित करने की योजना बनाई थी। लेकिन जैसे भीड़ ने ईट, पत्थर फेंकने और डाउन फेस्टिवल बैनर फाड़ने शुरु किए पुलिस वहां से गायब हो गई।

हिंसा के बीच महिला भक्तों ने हमलावरों से मूर्ति की रक्षा की।

दासगुप्ता ने आईएएनएस को बताया कि जेएम सेन हॉल में पूजा समारोह आयोजित करने वाली परिषद के नेताओं ने घोषणा की कि जब तक पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा में चूक के लिए दंडित नहीं किया जाता है, तब तक वे उत्सव को समाप्त करने के लिए मूर्तियों का विसर्जन नहीं करेंगे।

विसर्जन हर साल सुबह 11 बजे से शुरू होता है। लेकिन सरकार ने हमें इस बार शुक्रवार की नमाज के कारण दोपहर 2.30 बजे के बाद मंडप से बाहर निकलने का निर्देश दिया था।

उन्होंने कहा कि सरकार हमारी सुरक्षा की बात करे, फिर हम मूर्तियों का विसर्जन करेंगे। तब तक, चटगांव महानगर में कोई भी पंडाल मूर्ति विसर्जन नहीं करेगा।

दोपहर करीब 3 बजे दासगुप्ता जेएम सेन हॉल चौराहे पर पहुंचे थे और पूजा उत्सव परिषद के साथ एकजुटता व्यक्त की।

शनिवार को सुबह छह बजे से दोपहर 12 बजे तक हड़ताल की घोषणा की गई है, और उन्होंने कहा कि अगर कोई हमारे प्रदर्शन में बाधा डालने का प्रयास करता है तो हम खून बहाने के लिए तैयार हैं।

इस बीच, चटगांव मेट्रोपॉलिटन पुलिस (सीएमपी) के आयुक्त सालेह मोहम्मद तनवीर और चट्टोग्राम पुलिस (दक्षिण) के अतिरिक्त आयुक्त बिजॉय बसाक ने दासगुप्ता से अपनी हड़ताल की मांग वापस लेने को कहा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Oct 2021, 10:15:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.