News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

एनआरआई खाते से 66 बार रुपये निकालने का प्रयास करने वाले एचडीएफसी बैंक के 3 कर्मचारियों सहित 12 गिरफ्तार

एनआरआई खाते से 66 बार रुपये निकालने का प्रयास करने वाले एचडीएफसी बैंक के 3 कर्मचारियों सहित 12 गिरफ्तार

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 19 Oct 2021, 03:40:01 PM
3 HDFC

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने एचडीएफसी बैंक के तीन कर्मचारियों सहित 12 लोगों को बैंक के एक अधिक जमापूंजी वाले एनआरआई ग्राहक के खाते से अनधिकृत निकासी करने का प्रयास करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से हैकिंग का इस्तेमाल किया और एनआरआई ग्राहक की धोखाधड़ी से प्राप्त चेक बुक का उपयोग करके पैसे निकालने का प्रयास किया।

पुलिस उपायुक्त (साइबर अपराध) के. पी. एस. मल्होत्रा ने कहा, आरोपी ने केवाईसी में पंजीकृत खाताधारक के यूएसए के मोबाइल नंबर के समान एक भारतीय मोबाइल फोन नंबर हासिल किया।

एचडीएफसी बैंक ने स्पेशल सेल की साइबर क्राइम यूनिट में शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया था कि एक एनआरआई बैंक खाते में कई अनधिकृत इंटरनेट बैंकिंग प्रयास देखे गए हैं। बैंक ने आगे आरोप लगाया कि इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से खाते तक पहुंचने के लिए कुल 66 बार प्रयास किए गए।

इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने एक टीम गठित की, जिसे तकनीकी फुटप्रिंट्स और ह्यूमन इंटेलिजेंस के आधार पर दोषियों की पहचान करने का काम सौंपा गया था।

दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 20 स्थानों पर छापेमारी की गई, जिसमें एचडीएफसी बैंक के तीन कर्मचारियों सहित 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

एक महिला समेत एचडीएफसी बैंक के तीन आरोपित कर्मचारी चेक बुक जारी करने, मोबाइल फोन नंबर अपडेट करने और खाते से हेट फ्रीज हटाने में शामिल थे।

आरोपियों की पहचान गाजियाबाद निवासी आर. जायसवाल, गाजियाबाद निवासी जी. शर्मा, ग्रेटर नोएडा निवासी ए. कुमार, हापुड़ निवासी ए. तोमर, गाजियाबाद निवासी एच. यादव, बुलंदशहर निवासी एस. एल. सिंह, गुरुग्राम निवासी एस. तंवर, झांसी निवासी एन. के. जाटव और यूपी के बागपत निवासी एस. सिंह के रूप में हुई है।

आरोपी एचडीएफसी कर्मचारियों में रायबरेली के डी. चौरसिया, गोंडा के ए. सिंह और एक महिला कर्मचारी शामिल हैं।

पूछताछ में पता चला कि मुख्य मास्टरमाइंड को सूचना मिली थी कि उक्त एनआरआई खाता निष्क्रिय है और उसमें काफी रकम है।

एचडीएफसी की एक महिला कर्मचारी की मदद से उन्होंने उक्त खाते की चेक बुक जारी की। पता चला है कि डी. चौरसिया और ए. सिंह (दोनों एचडीएफसी बैंक के कर्मचारी) ने केवाईसी से जुड़े फोन नंबर को अपडेट करने का प्रयास किया था। अन्य सहयोगियों ने पैसे के हस्तांतरण के उद्देश्य से खाते की इंटरनेट बैंकिंग में लॉगिन करने का प्रयास भी किया था।

डीसीपी मल्होत्रा ने कहा कि पूरी साजिश का पता लगाने के लिए अभी जांच जारी है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 19 Oct 2021, 03:40:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.