News Nation Logo
Banner

पीएम मोदी के 92 मिनट के पूरे भाषण की अहम बातें एक नजर में जानें

इस बीच पीएम मोदी ने देश की आवाम को संबोधित करते हुए अपने 92 मिनट के संबोधन में उन्होंने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देते अनुच्छेद 370 और राज्य के लोगों को विशेषाधिकार देते अनुच्छेद 35-ए को हटाने का प्रमुखता से उल्लेख किया.

By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 15 Aug 2019, 11:35:45 AM
पीएम मोदी

पीएम मोदी

नई दिल्ली:

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुरुवार को स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर झंडारोहण के बाद लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया और सभी देशवासियों को स्‍वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी. इस बीच पीएम मोदी ने देश की आवाम को संबोधित करते हुए अपने 92 मिनट के संबोधन में उन्होंने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देते अनुच्छेद 370 और राज्य के लोगों को विशेषाधिकार देते अनुच्छेद 35-ए को हटाने का प्रमुखता से उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि इस फैसले का विरोध करने वाले से पूछना चाहता हूं कि अगर यह अनुच्छेद इतना जरूरी था, इसी से भाग्य बदलने वाला था तो 70 सालों में (विपक्षी दलों का) बहुमत होने के बावजूद इसे अस्थायी क्यों रखा गया.

इसे स्थायी क्यों नहीं किया गया? हम न समस्याओं को टालते हैं, न समस्याओं को पालते हैं. जो काम 70 साल में नहीं हुआ, वह नई सरकार बनने के 70 दिन के भीतर किया गया. संसद के दोनों सदनों ने दो तिहाई बहुमत से इसे पारित कर दिया. राष्ट्र को दिए अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि जनसंख्या विस्फोट रोकने के लिए सामाजिक जागरूकता की आवश्यकता है.

यह भी पढ़ें- PM मोदी का विपक्ष पर अटैक- Article 370 इतना अच्छा था तो स्थाई क्यों नहीं किया, क्योंकि आप में हिम्मत नहीं थी

पीएम मोदी ने कहा हमें चुनौतियों को सामने से स्वीकार करना होगा. कभी राजनीतिक नफा नुकसान से हम फैसले करते हैं, लेकिन इससे देश की भावी पीढ़ी का नुकसान होता है. इससे जुड़ा एक विषय है हमारे यहां जनसंख्या विस्फोट हो रहा है. एक जागरुक वर्ग है जो इस समस्या को समझता है. वह अपने घर में शिशु को जन्म देने से पहले सोचता है कि मैं शिशु के सपनों को पूरा कर पाउंगा, उसकी जरूरतों को पूरा कर पाउंगा या नहीं. एक छोटा वर्ग इन सारे पैरामीटर्स पर परिवार नियोजन करता है और देश का भला करने में सहयोग देता है और छोटा परिवार रखकर वो देशभक्ति करते हैं.

भ्रष्टाचार दीमक की तरह

पीएम मोदी ने कहा कि "भ्रष्टाचार दीमक की तरह हमारी जिंदगी में घुस चुका है. बीमारी इतनी फैली है कि इसे ठीक होने में काफी समय लग रहा है. मैं मानता हूं व्यवस्थाओं में बदलाव होना चाहिए, लेकिन मैं मानता हूं समाज जीवन में बदलाव होना चाहिए. मैं मानता हूं कि व्यवस्थाएं चलाने वाले लोगों के मन में भी बदलाव होना चाहिए. देश आजादी के इतने साल बाद परिपक्व हुआ है. हम आजादी के 75 साल मनाने जा रहे हैं. यह आजादी सहज संस्कार, सहज स्वभाव, सहज अनुभुति यह भी आवश्यक होती है."

देश के टूरीजम को बढ़ावा दें

पीएम मोदी ने कहा कि 2022 से पहले क्‍या हम तय कर सकते हैं कि देशभर में हम कम से कम 15 टूरिस्‍ट डेस्‍टिनेशन जाएंगे, इससे हमारे देश में पर्यटन को बहुत बल मिलेगा. पीएम ने कहा कि आप जाएंगे तो वहां नई दुनिया खड़ी करके आएंगे, आप जाएंगे तो दुनिया के लोग भी आना शुरू करेंगे.

अफगानिस्तान को दी बधाई

पीएम ने चार दिन बाद आजादी का उत्‍सव मनाने जा रहे अफगानिस्‍तान को ढेरों शुभकामनाएं दी. आतंक को नेस्‍तानबूद करने के लिए हमारा विजन साफ है. हमारे सुरक्षाबलों ने संकट की घड़ी में जीवन आहूत करके हमारा जीवन बचाया है. मैं उनको सैल्‍यूट करता हूं

स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता दें’

मोदी ने कहा, मेक इन इंडिया का जो मिशन जो हमने लिया है उसे हमे पूरा करना चाहिए. हम तय करें कि अपने जीवन में मेरे देश में जो बनता है, जो मिलता है, उस प्रोडक्‍ट को ही लेंगे. लोकल प्रोडक्‍ट को हम प्राथमिकता देंगे. इससे हमारी ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था को बहुत बड़ा बल मिलेगा. देश की इकोनॉमी में इसके कारण हम मदद कर सकते हैं.

पीएम ने कहा आज हमें गर्व है कि हमारा रुपे कार्ड सिंगापुर में चल रहा है, और भी देशों में चलने वाला है. हमारे देश के छोटे-छोटे व्यापारों में भी हमें डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना चाहिए. हमारे दुकानदार बोर्ड लगाते हैं आज नकद कल उधार. अब हमें बोर्ड लगाना चाहिए डिजिटल पेमेंट को हां, नकद को न.

‘आतंकवाद को मूकदर्शक बनकर नहीं देख सकते’

मोदी ने कहा, ‘‘भारत आतंक फैलाने वालों के खिलाफ मजबूती से लड़ रहा है. आतंकियों ने मानवता के खिलाफ युद्ध छेड़ा हुआ है. दुनिया से आतंकवाद को खत्म करने के लिए हमने बीड़ा उठाया है. कुछ लोगों ने हमारे पड़ोसी देशों में हमले किए. निर्दोषों को मौत के घाट उतार दिया. ऐसे में भारत मूकदर्शक बनकर नहीं बैठ सकता है. आतंक का माहौल बनाने वालों को खत्म करना है.’’

‘‘समय रहते रिफॉर्म्स की बहुत आवश्यकता होती है. सैन्य संसाधनों के रिफॉर्म्स पर काफी चर्चा हुई है. अनेक रिपोर्ट्स आई हैं. सभी रिपोर्ट्स एक ही समस्या को उजागर करती रही हैं. हमारे तीनों जल थल नभ तीनों में ही कॉर्डिनेशन तो है. किसी भी भारतीय को इसमें गर्व है. लेकिन आज जैसे दुनिया बदल रही है. आज जिस तरह तकनीक व्यवस्थाएं बन रही हैं. भारत को इसमें नहीं रुकना चाहिए. हमारी सेनाओं को एक साथ आगे बढ़ना होगा. जल थल नभ में एक आगे चले, दूसरा दो कदम पीछे हो ऐसा नहीं चल सकता. सबको साथ चलना होगा. आज मैं एक महत्वपूर्ण निर्णय की घोषणा करना चाहता हूं. चीफ ऑफ डिफेंस के पद का गठन करेंगे. इससे तीनों सेनाओं को प्रभावी नेतृत्व मिलेगा. इससे तीनों सेनाओं के लिए जो हमारा रिफॉर्म्स का सपना हो वो पूरा होगा.’’

‘’पूज्य बापू की 150वीं जयंती का वर्ष है. यह हमारे कालखंड में हमें मिले यह हमारा सौभाग्य है. 130 करोड़ देशवासियों के दिल में बापू के अनुरूप इस पर्व को प्रेरणा का अवसर बनाकर आगे बढ़ना है. 2019 में कुछ ही हफ्तों के बाद ओपन डिफेकेशन फ्री घोषित कर पाएगा. सभी ने इसके लिए आंदोलन शुरू किया. मेरे प्यारे देशवासियों आपके सामने मैं एक अपेक्षा रखना चाहता हूं. क्या हम सिंगल यूज प्लास्टिक से निजात पा सकते हैं. क्या हम सड़कों और गंदी जगहों पर पड़े सिंगल यूज प्लास्टिक को इकट्ठा करें और सभी पंचायत, नगर पालिका इन्हें 2 अक्टूबर को उठाएं और देश को प्लास्टिक मुक्त करने की तरफ पहला कदम उठाएं. जिसके कारण अनेक समस्याएं पैदा हो रही हैं, उससे मुक्ति के लिए हमें आगे आना होगा. मैं दुकानदारों से कहूंगा कि वे अपनी दुकान के आगे बोर्ड लगाएं कि अपने घर से कपड़े का थैला लेकर निकलें. क्यों न हम त्योहार लोगों को इस बार कपड़े का थैला गिफ्ट करें.’’

हर घर जल के लिए पीएम ने किया मिशन का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से कहा कि हमारी सरकार ने देश में गरीबी कम करने की दिशा में आगे कदम बढ़ाए हैं. पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक हर दल की सरकार ने देश की भलाई में कुछ ना कुछ किया है, लेकिन अभी भी 50 फीसदी लोगों के घरों में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है. लोगों को पीने के पानी के लिए कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.पीएम मोदी बोले कि हमारी सरकार अब हर घर में जल की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. पीएम ने इस दौरान जल जीवन मिशन का ऐलान किया और साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये के बजट का ऐलान किया. इसके तहत जल संचय, समुद्री पानी का इस्तेमाल, वेस्ट वाटर का इस्तेमाल, कम पानी में खेती के बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलाई जाएगी. प्रधानमंत्री ने इस दौरान जिक्र किया कि एक संत ने सौ साल पहले ही कह दिया था कि एक दिन आएगा जब पानी किराने की दुकान में बिकेगा.

तीन तलाक पर क्या बोले प्रधानमंत्री...

लालकिले से पीएम मोदी ने कहा कि हम सबका साथ-सबका विकास का मंत्र लेकर चले थे, लेकिन पांच साल में ये सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास हो गया जो देश की वजह से हुआ है. अब हम संकल्प से सिद्धी की ओर बढ़ रहे हैं. पीएम ने कहा कि देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है.
PM मोदी ने कहा कि देश की मुस्लिम बेटियां डरी हुई जिंदगी जी रही थीं, भले ही वो तीन तलाक की शिकार नहीं बनी हों लेकिन उनके मन में डर रहता था. तीन तलाक को इस्लामिक देशों ने ही खत्म कर दिया था, तो हमने क्यों नहीं किया. अगर देश में दहेज, भ्रूण हत्या के खिलाफ कानून बना सकते हैं तो तीन तलाक के खिलाफ क्यों नहीं.

जलसंकट पर प्रधानमंत्री

लालकिले से प्रधानमंत्री बोले कि किसानों को आज 90 हजार करोड़ रुपये सीधा खाते में दिए जा रहे हैं, हमने जलसंकट से निपटने के लिए अलग से मंत्रालय बनाया. हम मजदूरों और किसानों को भी पेंशन देने के लिए कदम बढ़ा रहे हैं. हमारे देश में आज डॉक्टरों की जरूरत है और नए कानूनों की भी जरूरत है. आज पूरी दुनिया में बच्चों के साथ अत्याचार हो रहा है, लेकिन हमारी सरकार ने देश में बच्चों के खिलाफ जुल्म करने वालों के खिलाफ कानून बनाया.

First Published : 15 Aug 2019, 10:03:59 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.