News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

12 जनवरी को भारत-चीन के बीच 14वें दौर की वार्ता,  तनाव को हल करने की एक और कोशिश

भारत और चीन के बीच यह वार्ता चीन की ओर स्थित चुशूल मॉल्डो में होगी. अधिकारियों ने कहा कि इस बातचीत में भारत की कोशिश होगी कि वह बातचीत के जरिए सीमा के तनाव को कम कर सके.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 10 Jan 2022, 08:33:45 PM
indo china

भारत-चीन सीमा (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • भारत-चीन के बीच 13वें राउंड की वार्ता भी पूरी तरह से बेनतीजा रही
  • 12 जनवरी को 14 वें दौर की वार्ता होना तय हुआ है
  • बातचीत के जरिए सीमा के तनाव को कम करना है

नई दिल्ली:

भारत-चीन सीमा विवाद के समाधान के लिए 13 दौर की वार्ता विफल साबित होने के बाद 12 जनवरी को 14 वें दौर की वार्ता होना तय हुआ है. सेना एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत और चीन के बीच सैन्य स्तर की वार्ता की तारीख तय हो गई है. भारत-चीन के बीच सीमा विवाद (India-China Dispute)  के कारण पिछले डेढ़ साल से लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC issue) के पास तनाव की स्थिति बनी हुई है. सीमा विवाद के तनाव को हल करने के लिए दोनों देशों के बीच एक बार फिर से कमांडर स्तर की बातचीत होने जा रही है. दोनों देशों के बीच बातचीत का यह 14वां दौर (14th round meeting) होगा.  

यह भी पढ़ें: Post Office की इस स्कीम में मात्र 50 रुपए जमा करने पर मिलेंगे 35 लाख, जानें योजना

अधिकारी के अनुसार भारत और चीन के बीच यह वार्ता चीन की ओर स्थित चुशूल मॉल्डो (Chushul-Moldo point) में होगी. अधिकारियों ने कहा कि इस बातचीत में भारत की कोशिश होगी कि वह बातचीत के जरिए सीमा के तनाव को कम कर सके.

गौरतलब है कि इससे पहले भारत और चीन (India-China conflict) के बीच 13 बार बातचीत हो चुकी है. इससे पहले 13वें राउंड की वार्ता भी पूरी तरह से बेनतीजा रही है. 13वें दौर की बातचीत भी चुशूल मोल्दो सीमा पर ही हुई थी. इस बातचीत में भारत ने इस बात पर जोर दिया था कि विवाद को खत्म करने के लिए ऐसे समाधान निकाले जाएं जिससे द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत बनाया जा सके.

First Published : 10 Jan 2022, 08:33:45 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.