News Nation Logo
Banner

तीन गुरु ग्रंथ साहिब की पवित्र पुस्तकों के साथ इतने भारतीय अफगान से पहुंचेंगे दिल्ली

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष एमएस सिरसा ने न्यूज नेशन से बातचीत में कहा कि तीन गुरु ग्रंथ साहिब की पवित्र पुस्तकों के साथ 125 हिंदू एक अफगानी नागरिक सोमवार रात दिल्ली पहुंचेंगे.

Written By : राहुल डबास | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 23 Aug 2021, 05:37:59 PM
indian

3 गुरु ग्रंथ साहिब की पवित्र पुस्तकों संग इतने भारतीय पहुंचेंगे दिल्ली (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

afghanistan crisis : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष एमएस सिरसा ( MS Sirsa ) ने न्यूज नेशन से बातचीत में कहा कि तीन गुरु ग्रंथ साहिब की पवित्र पुस्तकों के साथ 125 हिंदू एक अफगानी नागरिक सोमवार रात दिल्ली पहुंचेंगे. तजाकिस्तान के जरिए 125 अफगानी नागरिक राजधानी दिल्ली के T3 हवाई अड्डे पहुंचेंगे. ये 125 अफगानी नागरिक, अफगानिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय यानी हिंदू और सिख समुदाय से हैं. इनके पास अफगानिस्तान का ही पासपोर्ट है. इन सभी को गुरुद्वारा रकाबगंज और गुरुद्वारा बंगला साहिब के गेस्ट हाउस में रुकवाया जाएगा.

पीएम मोदी के नेतृत्व में हुआ पूरा ऑपरेशन, पीएमओ के पास है पल-पल की जानकारी

एमएस सिरसा ने कहा कि हम इससे पहले भी हिंदू सिख परिवारों को अफगानिस्तान से निकालने की कोशिश कर चुके हैं, लेकिन कई बार सफलता नहीं मिल पाई. दरअसल तीन बड़ी समस्या है, पहली तालिबान क्योंकि गुरुद्वारे से हम उन्हें पहले से हाउस लेकर जाते हैं और वहां से काबुल हवाई अड्डा. दूसरा अफगानिस्तान के अन्य नागरिक जिनकी वजह से हवाई अड्डे जाने वाली सभी सड़कों पर भारी भीड़ है, लोग अंदर घुसने की कोशिश कर रहे हैं और तीसरा अमेरिकन फोर्स इन तीनों को एक साथ साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह ऑपरेशन अंजाम दिया गया है. प्रधानमंत्री कार्यालय और हम लोग लगातार संपर्क में रहे यह ऑपरेशन बेहद मुश्किल ऑपरेशन था.

हिंदू और सिख मूल रूप से भारतीय भारत सरकार ने दिया साथ

यह सभी 125 अफगानी नागरिक जो हिंदू और सिख धर्म से हैं मूल रूप से भारतीय ही हैं, महाराजा रणजीत सिंह के समय यह भारत से अफगानिस्तान जाकर बसे थे, लिहाजा भारत सरकार की मदद से हम इन्हें वापस प्रदेश ला पाए हैं. इसे राजनीति की नजर से नहीं देखना चाहिए, किसी भी देश की जिम्मेदारी है कि उनके मूल नागरिकों की सुरक्षा की जाए.

148 हिंदू और सिख अभी भी तालिबान के आतंक में फंसे

अभी ऑपरेशन पूरा नहीं हुआ है, लगभग डेढ़ सौ भारतीय और से कभी भी अलग-अलग स्थानों पर फंसे हुए हैं. हम उनसे संपर्क में है और जल्द ही उन्हें भी भारत लेकर आया जाएगा. यह सभी अफगानिस्तान के नागरिक हैं, लेकिन अल्पसंख्यक समुदाय यानी एक हिंदू और सिख धर्म के अनुयायी हैं.

तीन गुरु ग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप की पश्चिमी दिल्ली में की जाएगी स्थापना

तालिबान के आने के बाद स्थिति खराब हुई है, गुरुद्वारे बंद करने पड़े हैं और गुरुद्वारा से गुरु ग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप को भी निकाला जा रहा है. आज रात की फ्लाइट में तीन गुरु ग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप भी हैं, जिन्हें पश्चिमी दिल्ली के गुरुद्वारों में स्थापित किया जाएगा.

First Published : 23 Aug 2021, 05:37:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.