logo-image

सिल्कयारा टनल से बचाए गए छह श्रमिकों का यूपी में होगा भव्‍य स्‍वागत

सिल्कयारा टनल से बचाए गए छह श्रमिकों का यूपी में होगा भव्‍य स्‍वागत

Updated on: 30 Nov 2023, 11:50 AM

श्रावस्ती:

उत्तरकाशी में सिल्कयारा टनल से बचाए गए यूपी के छह श्रमिकों का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए श्रावस्ती जिले के मोतीपुर कला गांव के लोग तैयारी कर रहे हैं।

मंगलवार रात बचाए गए 41 मजदूरों में से आठ उत्तर प्रदेश के हैं, जिनमें से छह श्रावस्ती के हैं।

बचाए गए श्रमिक राम सुंदर की पत्नी शीला ने कहा, “हमने गर्मजोशी से स्वागत के लिए सभी इंतजाम किए हैं। हमने राम सुंदर और गांव के अन्य सभी बचाए गए लोगों के लिए मिठाइयां और अन्य सामान की व्यवस्था की है।

राम सुंदर की मां धनपति ने कहा कि जब बचाए गए लोग यहां पहुंचेंगे तो गांव में एक पार्टी आयोजित की जाएगी।

मंगलवार की रात जब ग्रामीणों ने अपने प्रियजनों के सुरक्षित बचाव के बारे में सुना तो उन्होंने पटाखे फोड़े और दीये जलाए।

बुधवार दोपहर सभी मजदूरों को भारतीय सेना के चिनूक हेलीकॉप्टर से उत्तरकाशी से ऋषिकेश पहुंचाया गया।

बचाए गए मजदूर सत्यदेव के भाई महेश ने फोन पर बताया कि उनके भाई समेत बचाए गए सभी मजदूर स्वस्थ हैं।

उन्होंने कहा, अब हम जल्द से जल्द घर पहुंचना चाहते हैं।

बचाव और राहत कार्य के लिए उत्तर प्रदेश के नोडल अधिकारी अरुण कुमार मिश्रा ने कहा कि राज्य के बचाए गए सभी आठ लोगों को बुधवार दोपहर उत्तरकाशी के चिन्यासौड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से छुट्टी दे दी गई और उन्हें हवाई मार्ग से ऋषिकेश ले जाया गया।

उनकी आगे की जांच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)-ऋषिकेश में की जाएगी।

इसके बाद गुरुवार को श्रमिकों और उनके तीमारदारों को ऋषिकेश से लखनऊ ले जाया जाएगा।

बाद में, उन्हें संबंधित उपविभागीय मजिस्ट्रेटों द्वारा उनके गांवों में ले जाया जाएगा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.