logo-image

तेलंगाना में भाजपा जीती तो पिछड़ा वर्ग से बनेगा सीएम: अमित शाह

तेलंगाना में भाजपा जीती तो पिछड़ा वर्ग से बनेगा सीएम: अमित शाह

Updated on: 27 Oct 2023, 06:35 PM

हैदराबाद:

गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को वादा किया कि अगर भाजपा तेलंगाना में सत्ता में आई तो पिछड़े वर्ग से किसी नेता को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

सूर्यापेट में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुए, उन्होंने लोगों से भाजपा को सत्ता में लाने का आग्रह किया और घोषणा की कि पार्टी पिछड़े वर्ग से एक उम्मीदवार को मुख्यमंत्री बनाएगी।

उन्होंने कहा कि न तो भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) और न ही कांग्रेस तेलंगाना का भला कर सकती है। केवल भाजपा ही तेलंगाना का समग्र विकास सुनिश्चित कर सकती है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने वंशवादी राजनीति को बढ़ावा देने के लिए दोनों विरोधी दलों की आलोचना की। उन्होंने कहा, दोनों पार्टियों का लक्ष्य एक ही है। केसीआर केटीआर को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं और सोनिया गांधी राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहती हैं।

यह दावा करते हुए कि भाजपा का उद्देश्य गरीबों का कल्याण है, उन्होंने आरोप लगाया कि बीआरएस और कांग्रेस दोनों का उद्देश्य अपने-अपने परिवारों का कल्याण है।

उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केवल भाजपा ही तेलंगाना को विकास के पथ पर आगे ले जा सकती है।

भाजपा नेता ने बीआरएस को गरीब विरोधी, दलित विरोधी और पिछड़ा वर्ग विरोधी करार दिया। उन्‍होंने कहा, “केसीआर ने वादा किया था कि अगर वे सत्ता में आए तो एक दलित को मुख्यमंत्री बनाएंगे। मैं केसीआर से पूछना चाहता हूं कि आपके वादे का क्या हुआ।

उन्होंने कहा कि केसीआर ने दलित परिवारों को तीन-तीन एकड़ जमीन और रुपये, अनुसूचित जाति के लिए 50 हजार करोड़ रुपये और पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए हर साल 10 हजार करोड़ रुपये का बजट देने का भी वादा किया था।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी पिछड़ा वर्ग (बीसी) के लिए कई योजनाएं लाए। उन्होंने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया।

शाह ने दावा किया कि केंद्र ने पिछले 10 साल में तेलंगाना के विकास के लिए 25 लाख करोड़ रुपये दिये। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सम्मक्का सरक्का जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा करके तेलंगाना की अनुसूचित जनजातियों को सम्मानित किया है।

उन्होंने तेलंगाना में राष्ट्रीय हल्दी बोर्ड बनाने की प्रधानमंत्री की हालिया घोषणा का उल्लेख किया।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने तेलंगाना के अधिकारों की रक्षा के लिए कृष्णा जल विवाद न्यायाधिकरण का भी गठन किया।

जनसभा को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जी. किशन रेड्डी और अन्य भाजपा नेताओं ने भी संबोधित किया।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.