logo-image
लोकसभा चुनाव

अदाणी पोर्ट्स का सालाना शुद्ध लाभ 50 प्रतिशत बढ़ा, कार्गो वॉल्यूम अगले साल 50 करोड़ टन पहुंचने की उम्मीद

अदाणी पोर्ट्स का सालाना शुद्ध लाभ 50 प्रतिशत बढ़ा, कार्गो वॉल्यूम अगले साल 50 करोड़ टन पहुंचने की उम्मीद

Updated on: 02 May 2024, 03:25 PM

अहमदाबाद:

अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (एपीएसईजेड) ने गुरुवार को घोषणा की कि वित्त वर्ष 2023-24 में उसका शुद्ध लाभ 50 प्रतिशत बढ़कर 8,104 करोड़ रुपये पर पहुंच गया जबकि कार्गो वॉल्यूम 24 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 42 करोड़ टन दर्ज किया गया।

कंपनी ने शेयर बाजार को बताया कि वित्त वर्ष 2023-24 में उसका राजस्व 28 फीसदी बढ़कर 26,711 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। इसमें पोर्ट कारोबार का राजस्व 30 प्रतिशत और लॉजिस्टिक्स कारोबार का राजस्व 19 प्रतिशत बढ़ा है।

एपीएसईजेड के पूर्णकालिक निदेशक और सीईओ अश्विनी गुप्ता ने कहा, एपीएसईजेड के लिए, परिचालन और वित्तीय दोनों मोर्चों पर, वित्त वर्ष 2023-24 कई नए मील के पत्थरों का साल रहा है। एपीएसईजेड ने कार्गो, राजस्व और कर पूर्व लाभ के मामले में वित्त वर्ष के आरंभ में तय किये गये लक्ष्यों से छह-आठ प्रतिशत ज्यादा हासिल किया है। ऋण और कर पूर्व लाभ के अनुपात को 2.5 तक सीमित रखने का लक्ष्य रखा गया था जो वित्त वर्ष की समाप्ति पर 2.3 पर रहा।

कंपनी ने बताया कि अंतिम 10 करोड़ टन कार्गो हैंडलिंग बढ़ाने में दो साल से भी कम का समय लगा है और एपीएसईजेड वर्ष 2025 तक 50 करोड़ टन कार्गो का मुकाम हासिल करने के लिए तैयार है। इसमें हाल ही में अधिग्रहित गोपालपुर पोर्ट, इस साल आगे परिचालन शुरू करने वाले विझिंजम पोर्ट और अगले साल श्रीलंका में परिचालन शुरू कर रहे वेस्ट कंटेनर टर्मिनल का भी योगदान होगा।

गुप्ता ने कहा, हम विकास जारी रखने के लिए कारोबार में बड़ा निवेश जारी रखे हुए हैं, खासकर लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में। हमारे हाल में शुरू किये गए ट्रकिंग सेगमेंट की मदद से एपीएसईजेड अपने ग्राहकों को अंतिम पड़ाव तक कनेक्टिविटी प्रदान कर रहा है।

वित्त वर्ष 2023-24 में देश के कुल कार्गो में एपीएसईजेड की हिस्सेदारी 27 प्रतिशत और कंटेनर कार्गो में 44 प्रतिशत रही। इस दौरान देश के कुल कार्गो वॉल्यूम में 7.5 फीसदी और घरेलू कार्गो वॉल्यूम में 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

कंपनी ने कहा, वित्त वर्ष 2023-24 में कार्गो के 18 करोड़ टन (16 प्रतिशत की बढ़ोतरी) पर पहुंचने के साथ वित्त वर्ष 2024-25 में यह 20 करोड़ टन को पार करने के लिए तैयार है।

मुंद्रा पोर्ट ने 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष में 74 लाख टीईयू (20 फुट इक्विवेलेंट यूनिट) कंटेनर हैंडल किये जो उसके सबसे करीबी प्रतिद्वंद्वी की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक है।

कंपनी ने बताया, वित्त वर्ष के दौरान हमारे 10 पोर्टों ने अपने सर्वकालिक रिकॉर्ड कार्गो का स्तर दर्ज किया।

एपीएसईजेड ने इस सप्ताह घोषणा की थी कि उसकी केयर रेटिंग बढ़कर एएए हो गई है। यह देश में किसी को भी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों द्वारा दी जाने वाली यह उच्चतम रेटिंग है। इससे कंपनी के अपने सभी वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने की क्षमता का पता चलता है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.