logo-image

इराक में 170 शरणार्थी शिविरों में से 144 बंद

इराक में 170 शरणार्थी शिविरों में से 144 बंद

Updated on: 30 Nov 2023, 02:00 PM

बगदाद:

इराकी सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में देश भर में चल रहे 170 में से 144 शरणार्थी शिविरों को बंद करने की घोषणा की है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने उप मंत्री करीम अल-नूरी के मीडिया से हवाले से कहा, 170 में से केवल 26 शिविर बचे हैं और शेष अधिकांश शिविर कुर्दिस्तान के अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र में हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने जोर देकर कहा कि इन शिविरों में अधिकांश विस्थापित लोग उत्तरी प्रांत निनेवेह की राजधानी मोसुल से लगभग 120 किमी पश्चिम में सिंजर शहर के निवासी हैं।

सिंजर में क्षेत्र पर प्रशासनिक नियंत्रण हासिल करने के सरकार के प्रयासों के बावजूद कई सशस्त्र समूह शहर पर नियंत्रण करने के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, प्रवास एवं विस्थापित मंत्रालय कठिन चुनौतियों के बावजूद इस संकट को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है, ताकि इराक को शरणार्थी शिविरों से छुटकारा मिल सके।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के अनुसार, इराक लगभग 300,000 शरणार्थियों और शरण चाहने वालों की मेजबानी करता है, जिनमें से 90 प्रतिशत से अधिक इराक के कुर्दिस्तान क्षेत्र में रहते हैं।

ईरान, तुर्की, फ‍िलिस्तीन और अन्य देशों के शरणार्थियों और शरण चाहने वालों के अलावा, 260,000 से अधिक सीरियाई, मुख्यतः कुर्द हैं।

असुरक्षा, आजीविका की कमी और उनके घरों के नष्ट होने या क्षति के कारण उन्हें अपने घरों में लौटने में बाधा उत्पन्न हुई है।

वर्तमान में, 1 मिलियन से अधिक इराकी इस्लामिक स्टेट (आईएस) विद्रोह के कारण आंतरिक रूप से विस्थापित हैं, जबकि 5 मिलियन अन्य अपने मूल क्षेत्रों में लौट आए हैं।

सभी विस्थापन शिविरों को बंद करने की इराक की योजना तब आई जब सुरक्षा बलों द्वारा 2017 में आईएस आतंकवादी समूह से देश की पूर्ण मुक्ति की घोषणा के बाद देश में सुरक्षा स्थिति में नाटकीय रूप से सुधार हुआ है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.