logo-image
लोकसभा चुनाव

Diabetes Fasting: डायबिटीज मरीज उपवास के दौरान किन बातों का रखें ध्यान, क्या करें क्या नहीं

डायबिटीज वाले लोगों के लिए उपवास करना हमेशा सुरक्षित नहीं होता है. उपवास शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण है. 

Updated on: 08 Mar 2024, 06:29 PM

नई दिल्ली:

Diabetes Fasting: डायबिटीज वाले लोगों के लिए उपवास करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है. उपवास के दौरान रक्त शर्करा का स्तर कम हो सकता है, जिससे कई समस्याएं हो सकती हैं. डायबिटीज वाले व्यक्तियों को उपवास करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है. यह उनकी स्थिति, डायबिटीज का प्रकार, और उनकी उम्र पर निर्भर करता है. उपवास करते समय डायबिटीज वाले लोगों को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए. इसके अलावा हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि मधुमेह के मरीजों को ज्यादा समय तक भूखा नहीं रहना चाहिए. ऐसे में आज कुछ तरीके बताएंगे जिसे आप अपना सकते हैं.

क्या करें:

अपने डॉक्टर से सलाह लें: उपवास शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें.
रक्त शर्करा का स्तर नियमित रूप से जांचें: उपवास के दौरान नियमित रूप से रक्त शर्करा का स्तर जांचें.
पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं: निर्जलीकरण से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं.
सही भोजन का सेवन करें: उपवास तोड़ने के बाद सही भोजन का सेवन करें.
नियमित व्यायाम करें: नियमित व्यायाम रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित करने में मदद करता है.

क्या न करें:

इंसुलिन या अन्य दवाओं का सेवन न छोड़ें: उपवास के दौरान भी इंसुलिन या अन्य दवाओं का सेवन न छोड़ें.
भारी व्यायाम न करें: उपवास के दौरान भारी व्यायाम न करें.
अकेले उपवास न करें: किसी के साथ उपवास करें ताकि यदि आपको कोई समस्या हो तो वह आपकी मदद कर सके.
यदि आपको कोई लक्षण महसूस हो तो उपवास तोड़ दें: यदि आपको कमजोरी, चक्कर आना, या अन्य कोई लक्षण महसूस हो तो उपवास तोड़ दें.

डायबिटीज वाले लोगों के लिए उपवास के कुछ लाभ भी हैं:

रक्त शर्करा का स्तर कम करता है: उपवास रक्त शर्करा का स्तर कम करने में मदद करता है.
वजन कम करता है: उपवास वजन कम करने में मदद करता है.
इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करता है: उपवास इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करता है.
कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को कम करता है: उपवास कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को कम करने में मदद करता है.

डायबिटीज वाले लोगों के लिए उपवास करना हमेशा सुरक्षित नहीं होता है. उपवास शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण है. 

डायबिटीज वाले लोग उपवास के बजाय ये करें:

कम कैलोरी वाला आहार: कम कैलोरी वाला आहार रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित करने में मदद करता है.
नियमित व्यायाम: नियमित व्यायाम रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित करने में मदद करता है.
तनाव का प्रबंधन: तनाव का प्रबंधन रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित करने में मदद करता है.

डायबिटीज वाले लोगों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपनी जीवनशैली में बदलाव करें ताकि वे रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित कर सकें. उपवास एक विकल्प हो सकता है, लेकिन यह सभी के लिए सुरक्षित नहीं है.