News Nation Logo
Banner

आज की दुनिया को आंतरिक और बाहरी दोनों तरह के आत्मविश्वास की जरूरत

'बीडैजल - द आर्ट एंड साइंस ऑफ इटरनल कॉन्फिडेंस' (ब्लूम्सबरी) इस तरह के सभी परि²श्यों में अवचेतन प्रेरणा के मुख्य पहलुओं को डिकंस्ट्रक्ट करता है और आत्मविश्वास को गहरे स्तर पर समझने के लिए ट्रिगर्स को हैंडपिक्स करता है.

IANS | Updated on: 14 Dec 2020, 02:05:44 PM
Today world needs both internal and external confidence

आज की दुनिया को आत्मविश्वास की जरूरत (Photo Credit: IANS)

नई दिल्ली:

किसी व्यक्ति में कौन सी चीज आत्मविश्वास जगाती है? किसी व्यक्ति के आत्मविश्वास पर कौन सी चीज प्रतिकूल प्रभाव डालती है और वह महत्वपूर्ण क्यों है? क्या आप जानते हैं कि किसी का बचपन किसी के आत्मविश्वास पर गहरा प्रभाव डाल सकता है? क्या आपने कभी सोचा है कि एक खिलाड़ी कई बार असफल होने के बाद भी बार-बार प्रदर्शन कैसे करता है? पिछली असफलता के बावजूद वह आत्मविश्वास कहां से लाता है? हम इससे क्या सीख सकते हैं?

यह भी पढ़ें : कैसे बनता है देश का आम बजट? समझिए बजट की पूरी प्रकिया

कम सोचने की क्षमता वाले जानवर भी शिकार करने के लिए गहराई से प्रेरित होकर, हर एक दिन, पिछले असफल प्रयास के बावजूद कैसे निकल पड़ते हैं. क्या आप जानते हैं कि हमारा पर्यावरण उन तरीकों को प्रभावित कर सकता है जो हमारा आत्मविश्वास हर दिन जगाता है? 'बीडैजल - द आर्ट एंड साइंस ऑफ इटरनल कॉन्फिडेंस' (ब्लूम्सबरी) इस तरह के सभी परि²श्यों में अवचेतन प्रेरणा के मुख्य पहलुओं को डिकंस्ट्रक्ट करता है और आत्मविश्वास को गहरे स्तर पर समझने के लिए ट्रिगर्स को हैंडपिक्स करता है, ताकि कोई भी इसका उपयोग अपने सर्वोत्तम लाभ के लिए कर सके.

यह भी पढ़ें : एमपी में पशुपालकों के लिए मददगार बनेगी पशुधन बीमा योजना

सफल लोगों को अक्सर आत्मविश्वासी माना जाता है, लेकिन यह कम लोग ही स्वीकार करते हैं कि यह अपार आत्मविश्वास ही है जो लोगों को सफल बनाता है. एनएलपी (न्यूरो-लिंगुइस्टिक प्रोग्रामिंग) के विज्ञान में महारत हासिल कर चुकी लेखिका शामोली खेरा ने कई कार्य-योजनाओं का खुलासा किया है, जो व्यक्ति को निरंतर आत्मविश्वास बनाए रखने और स्वयं में गहरी प्रेरणा जगाने में मदद कर सकती है.

हालांकि यह सिर्फ आंतरिक आत्मविश्वास नहीं है. आज की दुनिया में इसे बाहरी रूप से चित्रित करना उतना ही आवश्यक है- चाहे काम पर हो या जीवन में. आपकी बॉडी लैंग्वेज से लेकर आपकी आवाज, आपके चलने का तरीका या आपकी एलीवेटर पिच, यह सब मायने रखता है. 'बीडैजल' मानव मन की धारणाओं को उजागर करता है और सकारात्मक धारणाओं को सु²ढ़ करने के लिए हम अपने आंतरिक प्रोग्रामिंग को कैसे सुधार सकते हैं, इसमें मदद करता है. लोग सिर्फ आंतरिक और बाहरी दोनों आत्मविश्वासों में महारत हासिल कर वास्तव में बीडैजल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें : असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के 50 कार्यकर्ताओं पर एक साथ केस दर्ज, जानिए क्या है वजह

खेरा भारतीय मीडिया और टीवी उद्योग में एक प्रसिद्ध पर्सनालिटी हैं. टीवी प्रेजेंटेटर, कंटेंट प्रोड्यूसर, पब्लिक स्पीकर और सेलिब्रिटी कोच के रूप में उनका करियर शानदार रहा है. चिकित्सा में उनकी पेशेवर शिक्षा और शीर्ष बॉलीवुड हस्तियों और कॉपोर्रेट अधिकारियों के साथ काम करने के कारण करियर ने उनके पास कई किस्से, कहानियां और ऑब्जर्वेशन हैं.

यह भी पढ़ें : विकास प्राधिकरणों की कार्यप्रणाली में सुधार जरूरी : सीएम योगी

पिछले एक दशक में खेरा विभिन्न टेलीविजन नेटवर्क, जैसे जी, टीएलसी, कलर्स और एमबीसी का चेहरा रही हैं और उन्होंने कई शो तैयार किए हैं जो संस्कृतियों और देशों पर प्रभाव डालते हैं. वह वर्तमान में अपने कंटेंट डिस्ट्रीब्यूशन हाउस वन टेक मीडिया कंपनी में एक निदेशक हैं, न्यूरोसाइंस एंड परफॉर्मेंस साइकोलॉजी के क्षेत्र में जुनून के साथ उन्होंने 'स्पीक टू इंस्पायर' की स्थापना की, जहां उन्होंने सैकड़ों पेशेवरों और नेताओं को प्रभावशाली वक्ता बनने के लिए कोचिंग दी है.

First Published : 14 Dec 2020, 02:00:13 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.