News Nation Logo
Banner

3 डोज वाली कोरोना वैक्सीन ZyCov-D को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

जेनेरिक दवा कंपनी कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड ने ZyCoV-D के इमरजेंसी यूज की अनुमति के लिए बीती 1 जुलाई को आवेदन किया था.

News Nation Bureau | Edited By : Ritika Shree | Updated on: 21 Aug 2021, 11:34:14 AM
zydus cadila

जायडस कैडिला (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • जायडस कैडिला (Zydus Cadila) की 3 डोज वाली कोरोना वैक्सीन को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी
  • जायडस कैडिला ने कहा था कि वो अप्रूवल मिलने के बाद दो महीने के भीतर वैक्सीन लॉन्च कर सकती
  • वैक्सीन पूरी तरह अप्रूव हो जाती है तो ये भारत की दूसरी स्वदेशी वैक्सीन होगी

नई दिल्ली:

कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) के खिलाफ देश में चल रहे वैक्सीनेशन में अब एक और वैक्सीन जुड़ गई है. फार्मा कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) की 3 डोज वाली कोरोना वैक्सीन को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. जेनेरिक दवा कंपनी कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड ने ZyCoV-D के इमरजेंसी यूज की अनुमति के लिए बीती 1 जुलाई को आवेदन किया था. ये आवेदन 28 हजार वॉलंटियर्स पर किए गए आखिरी स्टेज के ट्रायल के आधार पर किया था. वैक्सीन का एफिकेसी रेट 66.6 प्रतिशत सामने आया था. यह भी कहा गया है कि ये वैक्सीन 12 से 18 आयु वर्ग के लिए भी पूरी तरह सुरक्षित है. हालांकि अभी तक इसके ट्रायल डेटा का पीयर रिव्यू नहीं किया गया है.

यह भी पढ़ेः सितंबर तक आ सकती है बच्चों के लिए कोरोना की वैक्सीन

फार्मा कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) की 3 डोज वाली कोरोना वैक्सीन को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है.  ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की एक्सपर्ट कमेटी ने शुक्रवार को इस वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दे दी है. कमेटी ने फार्मा कंपनी से इस वैक्सीन के 2 डोज के प्रभाव का अतिरिक्त डेटा भी मांगा है. इससे पहले जायडस कैडिला ने कहा था कि वो अप्रूवल मिलने के बाद दो महीने के भीतर वैक्सीन लॉन्च कर सकती है.

यह भी पढ़ेः बिना वैक्सीन 76 फीसद और लेने के बाद हुई सिर्फ 0.3 फीसद की मौत, स्टडी में खुलासा 

 ZyCov-D वैक्सीन को भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च द्वारा मिलकर विकसित किया गया है. इस वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस पर सामान्य फ्रीजर में रखा जा सकता है. अगर इमरजेंसी यूज के बाद ये वैक्सीन पूरी तरह अप्रूव हो जाती है तो ये भारत की दूसरी स्वदेशी वैक्सीन होगी. इससे पहले भारत बायोटेक और आईसीएमआर ने साथ मिलकर पहली स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन बनाई थी. इस वक्त देश में कुल 4 वैक्सीन को अनुमति मिली हुई है. कोविशील्ड, कोवैक्सीन, स्पूतनिक, मॉडर्ना. अब जायडस की वैक्सीन मिलाकर ये संख्या पांच हो जाएगी.

First Published : 20 Aug 2021, 08:32:03 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.