News Nation Logo

World No Tobacco Day 2021: छोड़ना चाहते हैं सिगरेट की लत तो आजमाएं ये आसान उपाय

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से टूटती सांसों ने फेफड़ों की सेहत दुरूस्त रखने की जरूरत नए सिरे से बताई है. हाल ही में WHO ने कहा है कि कोविडकाल में स्मोकिंग से मौत का जोखिम 50 फीसदी ज्यादा होता है.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 31 May 2021, 11:01:15 AM
Quit Smoking

Quit Smoking (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • कोरोनाकाल में स्मोकिंग करना काफी खतरनाक है
  • स्मोकिंग करने वालों की मौत की संभावना 50 फीसदी ज्यादा
  • घरेलू उपायों से छुड़ाई जा सकती है स्मोकिंग की आदत

नई दिल्ली:

पूरी दुनिया आज विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day 2021) मना रहा है. तंबाकू से कैंसर जैसी घातक बीमारी हो सकती है. इसके बाद भी आज दुनिया में कई लोग तंबाकू का सेवन करते हैं. ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (2016-17) के अनुसार भारत में सिगरेट पीने (Smoking Cigarette) वालों की संख्या 10 करोड़ से ज्यादा है. कुल आबादी के 4 फीसदी वयस्क सिगरेट पीते हैं. इनमें 0.6 फीसदी महिलाएं हैं. देश में हर साल 10 लाख लोग सिगरेट से होने वाले विभिन्न रोगों को कारण अपनी जान गंवाते हैं. ज्यादातर लोग ऐसे होते हैं जो खतरे के बारे में पता होने के बावजूद स्मोकिंग करना नहीं छोड़ते हैं.  

कोरोना की दूसरी लहर (Second Wave Corona) और ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Crisis India) से टूटती सांसों ने फेफड़ों की सेहत दुरूस्त (Healthy Lungs) रखने की जरूरत नए सिरे से बताई है. हाल ही में WHO की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना काल में स्मोकिंग करके अपने फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों में कोविड की गंभीरता और इससे मौत का जोखिम 50 फीसदी ज्यादा होता है. दुनिया में ऐसे लोग भी बहुत हैं जो स्मोकिंग छोड़ना तो चाहते हैं लेकिन उनसे ये आदत छूट नहीं पाती है. यदि आप भी ऐसे लोगों में आते हैं तो ये खबर आपके लिए है.

ये भी पढ़ें- कोरोना: अधिकांश भारतीयों ने तेज बुखार, थकान, सूखी खांसी के लक्षणों का अनुभव किया

मजबूत इच्छाशक्ति- वैसे तो स्मोकिंग की लत ऐसी होती है जो प्लान बनाकर छोड़ना आसान नहीं होता लेकिन अगर आपकी इच्छाशक्ति मजबूत है तो कुछ भी नामुमकिन नहीं होता. स्मोकिंग छोड़ने के लिए आप अपनी इच्छाशक्ति को मजबूत करें और प्लान बना लें. जिस दिन आप इसे छोड़ना चाहें उस दिन शुरुआत तो जरूर करें और स्मोकिंग न करें. स्मोकिंग के मामले में दोस्तों की संगत सबसे अहम है. दोस्त लत छुड़वा सकते हैं तो सारे किए कराए प्रयासों पर पानी भी फेर सकते हैं. ऐसे दोस्तों का साथ छोड़ दें जो स्मोकिंग करते हों.

दालचीनी- अगर आप सिगरेट से दूर रहना चाहते हैं तो ऐसे में आप सबसे पहले घरेलू नुस्खों की तरफ ध्यान दें. अगर आपको सिगरेट की लत है तो ऐसे में आपको दालचीनी की सहारा लेना चाहिए. अगर आपको स्मोकिंग की इच्छा है तो ऐसे में आप दालचीनी का एक टुकड़ा मुंह में रखें इससे आपकी तलब कम हो जाती है.

सौंफ- सिगरेट छोड़ने का सबसे कारगर घरेलू उपाय है सौंफ. जब भी सिगरेट पीने का मन करे, थोड़ी सौंफ फांक लें. इसी तरह अदरक और आंवले का इस्तेमाल किया जा सकता है. अदरक और आंवले को पीस कर सुखा लें और एक डिब्बे में भर लें. स्वाद बढ़ाने के लिए नींबू और नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं. जब भी सिगरेट पीने का मन हो, यह मिश्रण फांक लें.

अजवाइन- अगर आप अजवाइन को मुंह में रखते हैं तो ऐसे में आपको इसकी आदत धीरे-धीरे छूट जाएगी. ऐसे में जब भी आपको स्मोकिंग करने का मन करे तो आप अजवाइन को मुंह में रख ले और इसेक बीच को चबाएं आपको फायदा जल्द देखने को मिलेगा.

मुलेठी- मुलेठी एक जड़ी-बूटी है जो सिगरेट की लत छुड़ा सकती है. इसका हल्का मीठा स्वाद धूम्रपान की इच्छा खत्म करने में मदद करता है. इससे खांसी में राहत मिलती है. यह टॉनिक का काम करता है. इससे थकान नहीं होती जो कि आमतौर पर सिगरेट पीने वालों का एक बहाना होता है. 

ये भी पढ़ें- नई दवा कॉम्बो उच्च जोखिम वाले ल्यूकेमिया के खिलाफ प्रभावी

अश्वगंधा और शतावरी- ये दोनों जड़ी बूटियां कई रोगों से लड़ने में मददगार हो सकती है. आयुर्वेद में इन दोनों जड़ी-बूटियों का खूब इस्तेमाल किया जाता है. तंबाकू या धूम्रपान के नियमित सेवन से शरीर में निकोटीन जैसे विषैले यौगिकों का जमाव होता है, लेकिन अश्‍वगंधा और शतावरी जैसी जड़ी बूटियां शरीर से इन विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती हैं.

खुद को बिजी रखें- धूम्रपान की लत से बचने के लिए व्यस्त रहना बेहद जरूरी है. अपने दिन की शुरुआत ऐसे करें जो नाश्ते, कसरत, ध्यान और काम से शुरू हो. साथ ही पढ़ने, बागवानी आदि अपनी पसंद के कामों में खुद को बिजी रखें, जिससे धूम्रपान करने की इच्छा से बचा जा सके.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. News Nation इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञों से परामर्श जरूर कर लीजिए.)

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 31 May 2021, 11:01:15 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.