News Nation Logo

बिना लक्षण वाले लोगों से भी होता है कोरोना संक्रमण फैलने का जोखिम!

भारत में कोरोना के दैनिक मामलों में फिर से जबरदस्त उछाल देखने को मिल रही है. बीते दिन करीब 25 हजार कोरोना के मामले भारत में दर्ज किए गए.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 14 Mar 2021, 09:49:47 AM
Corona Virus

बिना लक्षण वाले लोगों से भी होता है कोरोना संक्रमण फैलने का जोखिम! (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना के दैनिक मामलों में फिर से जबरदस्त उछाल देखने को मिल रही है. पिछले 24 घंटे में 25 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले भारत में दर्ज किए गए हैं. ऐसे में फिर से लोग कोरोना वायरस के लक्षणों और इससे बचने के उपायों को ढूंढने लग गए हैं. साथ ही कोरोना के फैलाव के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं. इस बीच सवाल यह भी आता है कि क्या ऐसे व्यक्ति से कोरोना संक्रमण फैल सकता है, जिसमें इस बीमारी के लक्षण नहीं? हालांकि इस बारे में जानकारी जुटाई गई तो सामने आया है कि ऐसे लोगों से भी कोरोना का संक्रमण फैलने का जोखिम होता है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर मिली.

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का कहर, ब्राजील में भारत से ज्यादा केस 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर एफएक्यू (FAQ) में बताया गया, 'यह बीमारी मुख्यतः खांसने वाले व्यक्ति से निकलने वाली श्वसन बूंदों के माध्यम से फैलती है. किसी भी तरह के लक्षण न पाए जाने वाले किसी व्यक्ति से कोविड-19 का संक्रमण फैलने का जोखिम बहुत कम होता है. हालांकि कोविड-19 से संक्रमित कई लोग केवल हल्के लक्षणों का अनुभव करते हैं. यह बीमारी के शुरुआती चरणों में विशेश रूप से सच होता है. इसलिए, किसी ऐसे व्यक्ति से कोविड-19 का संक्रमण प्राप्त करना संभव है, जिसे उदाहरण के लिए केवल हल्की खांसी हो और वह बीमार महसूस न करता हो.'

कोरोना वायरस से बचने के खास उपाय:-

  • अपने हाथों को अल्कोहलयुक्त सैनेटाइजर से नियमित रूप से और अच्छी तरह से साफ करें. या साबुन और पानी से धोएं. इससे आपके हाथ में चिपका हुआ वायरस मर जाता है.
  • अपने आप और किसी ऐसे व्यक्ति से, जो खांस रहा हो या छींक रहा हो, उससे  कम से कम 3 फीट की दूरी रखें.  जब किसी को खांसी होती है या छींक आती है तो उनकी नाक या मुंह से छोटी तरल बूदें छिड़क कर बाहर आती हैं, जिनमें वायरस हो सकता है.
  • यदि आप बहुत करीब हैं या खांसी करने वाले व्यक्ति को यह बीमारी है तो आप कोविड-19 वायरस समेत उन तरल बूदों को सांस लेते समय अपने अंदर ले जा सकते हैं. 
    आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें. क्योंकि हाथ कई सतहों को छूते हैं और वायरस के संपर्क में आ सकते हैं. एक बार दूषित होने पर, हाथ वायरस को आपकी आंखों, नाक और मुंह में स्थानांतरित कर सकते हैं.
  • यह सुनिश्चित करें कि आप और आपके आसपास के लोग अच्छी श्वसन-स्वच्छता का पालन करें. इसका मतलब है कि जब आप खांसते या छींकते हैं तो आपनी मुडी हुई कोहनी या टिश्यू पेपर से मुंह और नाक को ढक लें. अच्छी श्वसन-स्वच्छता का पालन करके आप अपने आसपास के लोगों को सर्दी, फ्लू और कोववड -19 जैसे वायरस से बचाते हैं.
  • यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें. यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो चिकित्सा संबंधी परामर्श लें. स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें.
  • नवीनतम कोविड-19 हॉटस्पॉट (शहर या स्थानीय क्षेत्र, जहां कोविड-19 व्यापक रूप से फैल रहा है) के बारे में अद्यर्तत जानकारी रखें. यदि संभव हो, खासकर यदि आप एक बुजुर्ग व्यक्ति हों अथवा मधुमेह, हृदय या फ़ेफडों की बीमारी से ग्रस्त हों, तो ऐसे स्थानों की यात्रा करने से बचें.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Mar 2021, 09:48:10 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो