News Nation Logo

PCOS के मरीज इन योगासनों को करें, मिलेगा आराम, इन चीजों से बनाएं दूरी

PCOS से महिलाओं को तेजी से अपना शिकार बना रही हैं. इस बीमारी के कारण महिलाओं में बांझपन का खतरा भी काफी हद तक बढ़ गया है. इसके लक्षण में अनियमित मासिक धर्म, सूजन, बाल झड़ना आदि की समस्याएं होती है.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 11 Jul 2021, 02:52:07 PM
PCOS Patients

PCOS Patients (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • PCOS से महिलाओं में बांझपन का खतरा बढ़ जाता है
  • PCOS में सूर्य नमस्कार बहुत लाभकारी होता है
  • स्ट्रार्च वाली चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए

नई दिल्ली:

भारत में महिलाओं के बीच सबसे ज्यादा जो बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं वो है पीसीओडी (PCOD) और पीसीओएस (PCOS). यह दोनों ही बीमारियां महिलाओं को तेजी से अपना शिकार बना रही हैं. इन दोनों ही बीमारियों के कारण महिलाओं में बांझपन का खतरा भी काफी हद तक बढ़ गया है. ऐसे में इस समस्या से जूझ रही महिलाएं इससे छुटकारा पाने के लिए दवाईयों का सहारा लेती है. लेकिन कुछ ऐसे योगासन हैं जिससे PCOD व PCOS जड़ से खत्म हो जाएगा. इसके साथ ही खानपान का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है. आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं. 

ये भी पढ़ें- 17 साल के लड़के के जबड़े से निकले 82 दांत, डॉक्टर्स भी हैरान

पीसीओएस (PCOS) यानी पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम एक हार्मोनल बीमारी है जो महिलाओं में होना आम बात हो गई है. इसके लक्षण में अनियमित मासिक धर्म, सूजन, बाल झड़ना आदि की समस्याएं होती है. इसके अलावा भी अन्य लक्षण हो सकते हैं. इस बीमारी को स्वस्थ लाइफस्टाइल से कम किया जा सकता है. पीसीओएस एक मेटाबॉलिक सिड्रोम हैं जो इंसुलिन प्रतिरोध क्षमता को बढ़ाने का काम करता है. महिलाओं को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है.

पीसीओएस के मरीज इन बातों का रखें ध्यान

  • सबसे जरूरी ये नहीं है कि आप क्या खा रहे हैं. जरूरी है कि आप कितना खा रहे हैं.
  • पीसीओएस के मरीजों को एक समय में कॉर्बोहाइड्रेट खाना चाहिए.
  • अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने से फैट अधिक जमा होता है. स्ट्रार्च वाली चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए.
  • अगर आपको एनर्जी के लिए कार्ब्स चाहिए तो दिन के समय में खाएं. आप सुबह के समय में ओट्स और सबूत अनाज खा सकते हैं. रात में कार्ब्स का सेवन न करें.

ये भी पढ़ें- कोरोना के बाद मंडराया जीका वायरस का खतरा, जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके 

इन आसनों को करने से मिलेगा फायदा

सूर्य नमस्कार- सूर्य नमस्कार करने से प्यूबिक एरिया की मसल्स, यूरिनरी ट्रैक्ट वेन्स और लोअर अबडॉमिन की मसाज होती है और मजबूती भी आती है. यह पीसीओडी को खत्म करने के साथ मेन्सट्रुअल साइकिल को रेग्युलर करने में भी फायदेमंद होता है.

चक्की चलासन- इसे करने के लिए हाथों को एक जगह पर स्थिर कर लें फिर अपने शरीर को पैरों की मदद से चक्की की तरह पूरा 360 डिग्री घुमाकर उसी स्थिति में लाना होता है. इससे यूट्रस, ओवरी, किडनी व पेट के निचले हिस्से की मसल्स की मसाज होती है, जिससे पीसीओडी की समस्या खत्म हो जाती है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. News Nation इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञों से परामर्श जरूर कर लीजिए.)

First Published : 11 Jul 2021, 02:52:07 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो