News Nation Logo
Banner

गले में खराश है तो हो जाएं सावधान, यह है ओमिक्रॉन संक्रमण का बड़ा लक्षण

ओमिक्रॉन के अब तक जितने भी मरीज मिले हैं उनमें एक लक्षण (omicron symptoms) आम है और वो है गले में खराश.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 17 Dec 2021, 04:23:33 PM
sore throat

गले में खराश (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • भारत में ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या 97 तक पहुंच गई है
  • दुनिया भर में ओमिक्रॉन वैरिएंट बहुत तेज गति से फैल रहा है
  • ब्रिटेन में गुरुवार को कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 88376 केस मिले हैं

नई दिल्ली:  

भारत में ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही  है. देश में ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या 97 तक पहुंच गई है. दुनिया भर के वैज्ञानिक इस वैरिएंट के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं. हालांकि शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि ये वैरिएंट अब तक से सभी स्ट्रेन से बिल्कुल अलग है. इसके लक्षण भी पहले की तुलना में इस बार अलग हैं. भारत ही नहीं दुनिया भर में ओमिक्रॉन वैरिएंट बहुत तेज गति से फैल रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, ये वैरिएंट अब तक 77 देशों में फैल चुका है और किसी भी अन्य स्ट्रेन की तुलना में कोरोना के इस वैरिएंट की रफ्तार ज्यादा है. ब्रिटेन में गुरुवार को कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 88376 केस मिले हैं, वहीं अमेरिका में 36 राज्यों में ओमिक्रॉन के मामले सामने आए हैं. 

ऐसे में ओमिक्रॉन के प्रमुख लक्षण (Omicron symptoms) को दुनिया भर के वैज्ञानिक समझने में लगे हैं.  जिससे इसके लक्षणों को जानकर संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. अब तक डेटा से पता चलता है कि कोरोना वायरस का ये वैरिएंट अब तक के पिछले वैरिएंट की तुलना में ज्यादा संक्रामक लेकिन कम गंभीर है. कोरोना के अब तक के लक्षणों की तुलना में इसके लक्षण भी हल्के हैं. हालांकि, ओमिक्रॉन के अब तक जितने भी मरीज मिले हैं उनमें एक लक्षण (omicron symptoms) आम है और वो है गले में खराश.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में Omicron के 10 नए मामले, देश में 100 के करीब पहुंचा आंकड़ा

दक्षिण अफ्रीका के डिस्कवरी हेल्थ के सीईओ डॉक्टर रेयान नोच ने हाल ही में एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि डॉक्टरों ने ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीजों के लक्षणों में थोड़ा अलग पैटर्न देखा है. इन सभी में संक्रमण का शुरुआती लक्षण गले में खराश था. इसके बाद नाक बंद होना, सूखी खांसी, मांसपेशियों और पीठ के निचले हिस्से में दर्द जैसे लक्षण पाए गए. डॉक्टर ने कहा कि ये सभी लक्षण हल्के हैं लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि ओमिक्रॉन कम खतरनाक है. 

ब्रिटिश हेल्थ एक्सपर्ट ने भी डॉक्टर नोच के साथ सहमति जताई है. सर जॉन बेल ने बीबीसी रेडियो कार्यक्रम में कहा कि शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि ओमिक्रॉन पिछले कोरोना वायरस की तुलना में बहुत अलग व्यवहार कर रहा है. उन्होंने कहा, 'इस विशेष वायरस के लक्षण पिछले वेरिएंट से अलग हैं. बंद नाक, गले में खराश, मांसपेशियों में दर्द और दस्त ऐसे लक्षण हैं जिन पर ध्यान देना चाहिए.'

एक्सपर्ट ने कहा, 'ओमिक्रॉन इंफेक्शन से होने वाली गंभीरता के बारे में अभी हम बहुत ज्यादा नहीं जानते हैं. मुझे लगता है कि वैक्सीनेटेड और पहले संक्रमित हो चुके लोगों में इसके हल्के लक्षण देखे जा सकते हैं. हालांकि, खराब इम्यूनिटी वालों पर इसका असर पिछले वैरिएंट्स जैसा ही हो सकता है. इसलिए हॉस्पिटल प्लानिंग के मामले में हमें बदतर हालात से लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए.'

First Published : 17 Dec 2021, 04:23:33 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.