News Nation Logo
उत्तराखंड : बारिश के दौरान चारधाम यात्रा बड़ी चुनौती बनी, संवेदनशील क्षेत्रों में SDRF तैनात आंधी-बारिश को लेकर मौसम विभाग ने दिल्ली-NCR के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया राजस्थान : 11 जिलों में आज आंधी-बारिश का ऑरेंज अलर्ट, ओला गिरने की भी आशंका बिहार : पूर्णिया में त्रिपुरा से जम्मू जा रहा पाइप लदा ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, 8 घायल पर्यटन बढ़ाने के लिए यूपी सरकार की नई पहल, आगरा मथुरा के बीच हेली टैक्सी सेवा जल्द महाराष्ट्र के पंढरपुर-मोहोल रोड पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत- 3 की हालत गंभीर बारिश के कारण रोकी गई केदारनाथ धाम की यात्रा, जिला प्रशासन के सख्त निर्देश आंधी-बारिश के कारण दिल्ली एयरपोर्ट से 19 फ्लाइट्स डाइवर्ट
Banner

कोरोना पॉजिटिव होने पर लक्षण न दिखे तो सरकार की इन गाइडलाइंस का करें पालन

देशभर में एक बार फिर कोरोना के मामले (Corona Case) तेजी बढ़ रहे हैं. इस बीच केंद्र ने कोविड-19 (Covid-19) के लक्षण विहीन और हल्के-फुल्के लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की समयसीमा कम कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 06 Jan 2022, 10:30:36 PM
coronaa

कोरोना टेस्ट (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

देशभर में एक बार फिर कोरोना के मामले (Corona Case) तेजी बढ़ रहे हैं. इस बीच केंद्र ने कोविड-19 (Covid-19) के लक्षण विहीन और हल्के-फुल्के लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की समयसीमा कम कर दी है. जहां कोरोना वायरस की पहली लहर और दूसरी लहर में यह अवधि 14 दिन की थी तो वहीं अब सिर्फ 7 दिन की होम आइसोलेशन की जरूरत है. उत्तर प्रदेश में भी होम आइसोलेशन की ये गाइडलाइंस लागू होगी. 

संशोधित गाइडलाइन के मुताबिक, बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले मरीजों को 7 दिन आइसोलेट रहना काफी होगा. अगर 7 दिन तक आइसोलेशन में रहने के बाद बुखार नहीं है तो इन मरीजों को फिर से कोरोना जांच कराने की  जरूरत नहीं पड़ेगी. 

ये हैं लक्षणविहीन मरीज

नए दिशानिर्देशों के अनुसार, उन मरीजों को लक्षण विहीन माना गया है जिनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है, लेकिन उनमें खांसी और बुखार के लक्षण नहीं हैं और उनका ऑक्सीजन लेवल 93 से कम नहीं है. माइल्ड या हल्के लक्षण वाले मरीज वो हैं जिनको सर्दी और गले में खराश और बुखार के लक्षण हों, लेकिन ऑक्सीजन लेवल 93 से कम न हो. गाइडलाइंस के मुताबिक, आपका होम आइसोलेशन सात दिन का है तो आपको आखिरी के तीन दिन बुखार नहीं होना चाहिए. अन्यथा आइसोलेशन की अवधि बढ़ाई जा सकती है. 

जानें होम आइसोलेशन में क्या करना है और क्या नहीं

इस बार कोरोना संक्रमण की खास बात ये है कि जांच में पॉजिटिव आने के बाद भी अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में कमी आई है, क्योंकि लोग घर में ही आइसोलेट हो रहे हैं. स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि होम आइसोलेशन में Do’s and Don’ts का ध्यान रखना जरूरी है.

First Published : 06 Jan 2022, 10:27:18 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.