News Nation Logo
Banner

प्रदूषण से हिंसक हो रहा है इंसान, अमेरिकी शोधकर्ताओं ने किया दावा

दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) समेत देश उन सभी शहरों में रहने वाले लोगों के लिए एक बुरी खबर है, जहां प्रदूषण (Pollution)का स्‍तर खतरनाक स्‍तर पर पहुंच गया है.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 06 Nov 2019, 06:32:15 PM
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्ली:

दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) समेत देश उन सभी शहरों में रहने वाले लोगों के लिए एक बुरी खबर है, जहां प्रदूषण (Pollution)का स्‍तर खतरनाक स्‍तर पर पहुंच गया है. अमेरिकी शोधकर्ताओं (American Researchers) का दावा है कि प्रदूषण (Pollution)से इंसान हिंसक होता जा रहा है. उन्होंने अपने शोध के जरिए बताया है कि किस तरह प्रदूषण (Pollution)के सूक्ष्म कणों की अधिकता और ओजोन इंसानी व्यवहार को प्रभावित करते हैं.

अभी तक तो प्रदूषण (Pollution)हमारे फेफड़े, स्‍किन, हृदय, नाखून, बाल को प्रभावित कर रहा था लेकिन अब यह खबर हैरान करने वाली है.शहरों में बढ़ रहा प्रदूषण (Pollution) अब इंसान के व्‍यवहार में परिवर्तन ला रहा है. प्रदूषण (Pollution)की मार से लोग अब हिंसक होते जा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः दुश्‍मन मुल्‍क के जहरीली गैस छोड़ने से दिल्‍ली में हो रहा प्रदूषण, बीजेपी के इस नेता ने किया दावा

शोधकर्ताओं ने अमेरिका की 397 काउंटी (कस्बा अथवा ब्लॉक) से 2006 से लेकर 2013 के बीच जुटाए गए पर्यावरण और अपराध के आंकड़ों पर शोध किया.कोलारोडो यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम 2.5 (PM 2.5) ,ओजोन के स्तर में बदलाव का हिंसक अपराध पर सीधा असर देखा गया, खासतौर पर ऐसे मामलों में जहां किसी एक शख्स ने आवेग में आकर दूसरे पर हमला किया हो.

यह भी पढ़ेंः PM मोदी ने प्रदूषण पर दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की, कही ये बात

पीएम 2.5 (PM 2.5) के स्तर में 10 फीसदी की बढ़ोतरी इस तरह के हमलों में 0.14 फीसदी की बढ़ोतरी से कहीं न कहीं जुड़ती नजर आती है.इसी तरह से ओजोन के स्तर में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हिंसक हमलों में 0.3 फीसदी की बढ़ोतरी का कारण बनती दिखती है.

यह भी पढ़ेंः सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के मुख्य सचिव को किया तलब, कहा-प्रदूषण के कारण बड़े पैमाने पर पलायन नहीं हो सकता

शोधकर्ता के मुताबिक, ऐसी कई चीजें हैं जो इसे साबित कर सकती हैं.मेरे दिमाग में दो बातें चल रही हैं.पहली ये कि प्रदूषक तत्व आपके शरीर से रक्त में प्रवेश करते हैं,आपके दिमाग का व्यवहार बदल जाता है.जो लोग प्रदूषण (Pollution)भरे वातावरण में रहते हैं वो परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं.

यह भी पढ़ेंः प्रदूषण की वजह से दिल्‍ली के इन ऐतिहासिक स्‍थानों का बदल गया नाम, जानें कुतुबमीनार को क्‍या कह रहे लोग

आपको एलर्जी है तो आंसू निकलने लगते हैं.आपको सांस लेने में दिक्कत होने लगती है.इनसे आपका गुस्सा बढ़ता है.अभी हम ये तो नहीं कह सकते कि दोनों में कौन सी वजह काम कर रही है, मगर हां प्रदूषण (Pollution)और हमलों के बीच संबंध है यह स्पष्ट कर सकते हैं.

First Published : 06 Nov 2019, 06:32:15 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×