News Nation Logo
Banner

हार्ट अटैक के 30 दिन पहले दिखते हैं ये लक्षण, वक्त रहते पहचान लें..

कार्डिएक अरेस्ट अचानक होता है और होने से पहले शरीर की तरफ से कोई चेतावनी भी नहीं मिलती. जबकि हार्ट अटैक (Heart Attack) से 1 माह पहले ही आपका शरीर में दिखाई देने लगते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 07 Aug 2019, 02:16:29 PM

नई दिल्‍ली:

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को कार्डिएक अरेस्ट हुआ जिसके बाद उन्हें एम्स लाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. ऐसे में ये जानना जरूरी है कि आखिर कार्डिएक अरेस्ट है क्या? कई बार लोग कार्डिएक अरेस्ट को दिल का दौरा पड़ना ही समझ लेते हैं लेकिन ऐसा नहीं हैं. कार्डिएक अरेस्ट अचानक होता है और होने से पहले शरीर की तरफ से कोई चेतावनी भी नहीं मिलती. जबकि हार्ट अटैक (Heart Attack) से 1 माह पहले ही आपका शरीर में दिखाई देने लगते हैं.

वहीं अगर बात हार्ट अटैक (Heart Attack) की करें तो दुनिया में इससे मरने वाले करीब एक तिहाई मरीजों को तो यह पता ही नहीं होता कि वे हृदय रोगी हैं. ऐसे लोग अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ देते हैं. दरअसल पहले आए हार्ट अटैक (Heart Attack) को मरीज़ पहचान नहीं पाता. ऐसा हार्ट अटैक (Heart Attack), जिसके लक्षण अस्पष्ट हों या जिनका पता ही न चले, उसे साइलेंट हार्ट अटैक (Heart Attack) कहते हैं. वैसे दिल हमारे शरीर का एक ऐसा हिस्सा है जो बाकी हिस्सों में खून व ऑक्सीजन पहुंचाता है.

यह भी पढ़ेंः Sushma Swaraj : इकलौती बेटी बांसुरी को छोड़ अनंतकाल में विलीन हो गईं पूर्व विदेश मंत्री

दिल के जरिए ही शरीर के बाकी हिस्सों में खून और ऑक्सीजन की सप्लाई होती है लेकिन जब ये पंप सही ढंग से काम नहीं करता तो खून और ऑक्सीजन को शरीर के बाकी हिस्सों में पहुंचाने में काफी समस्या होती है और ऐसा होने के कारण खून का प्रवाह रुकता है और हार्ट अटैक (Heart Attack) जैसी आशंका बढ़ जाती है. शोध के अनुसार तो ये भी पता चला है की एशियाई लोगों को बाकियों की तुलना में हार्ट अटैक (Heart Attack) जैसी संभावना ज्यादा बनी रहती है और इसके पीछे की वजह आज तक नहीं पता चल पाई है.
हम आज उन लक्षणों को बताने जा रहे हैं जो हार्ट अटैक (Heart Attack) से 1 माह पहले ही आपका शरीर में दिखाई देने लगते हैं जैसे..

  • मतली, हार्टबर्न और पेट में दर्द होना ...
  • हाथ में दर्द होना
  • कई दिनों तक कफ होना
  • सांस लेने में दिक्कतें होना
  • पसीना आना
  • पैरों में सूजन
  • चक्कर आना या सिर घूमना

थकान व अनिद्रा: अगर आपको बिना किसी मतलब का थकान दिखने लगे तो आपको सावधान होने की जरूरत है क्योंकि ऐसे में आपको हार्ट अटैक (Heart Attack) होने की संभावना है. वैसे अधिकतर महिलाओं में ये लक्षण देखने को मिलता है. असामान्य थकान मतलब बहुत छोटे-छोटे कामों जैसे बिस्तर ठीक करना, स्नान करना आदि में थक जाना.ये भी हार्ट अटैक (Heart Attack) के लक्षणों में से एक है क्योंकि अनिद्रा हार्ट अटैक (Heart Attack) के खतरे को बढ़ा देती है. ये लक्षण महिलाओं में ज्यादा देखने को मिलते हैं.

यह भी पढ़ेंः Sushma Swaraj demise: क्या होता है कार्डिएक अरेस्ट और हार्ट अटैक से कैसे होता है अलग, जानिए

पेट में दर्द : वैसे तो पेट दर्द समान्य समस्या है लेकिन अगर आपको हमेशा ही पेट में दर्द, सूजन, पेट खराब आदि की समस्या रहती है तो इसे हलके में ना लें. ये लक्षण महिलाओं और पुरुषों में सामान्य रूप से देखने को मिलते हैं.

यह भी पढ़ेंः दिल के दौरे का खतरा बढ़ने के पीछे ये है बड़ी वजह, 30 लाख साल पहले हुआ था कुछ ऐसा

सांस में कमी : जी हां अगर आपको ऐसा महसूस हो की आपको सांस लेने में कमी हो रही है या फिर आपको काफी समय से ऐसा लगता है कि आपको पर्याप्त हवा नहीं मिल रही, चक्कर आना और सांस की तकलीफ हो रही है तो फ़ौरन डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ेंः करीब 5 घंटे की सर्जरी के बाद सुषमा स्वराज को मिला था नया जीवन

सीने में दर्द : जी हां सीने में दर्द कई कारणों से कभी हो जाते हैं लेकिन आपको अक्सर ये दर्द बना रहता है तो आप समझ जाएं की आपको हार्ट अटैक (Heart Attack) जैसी समस्या होने वाली है.छाती में बेचैनी महसूस होना यदि आपकी आर्टरी ब्लॉक है या फिर हार्ट अटैक (Heart Attack) है तो आपको छाती में दबाव महसूस होगा और दर्द के साथ ही खिंचाव महसूस होगा.

First Published : 07 Aug 2019, 02:16:29 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो