News Nation Logo

कोरोनाः देश में लांच हुई 'एंटीबॉडी कॉकटेल', डोनाल्ड ट्रंप को भी दी गई थी यही दवा

स्विट्जरलैंड की फॉर्मा कंपनी रॉश (Roche) और सिप्ला (Cipla) ने कोरोनो के लिए 'एंटीबॉडी कॉकटेल' (Antibody Cocktail) को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने बताया कि एंटबॉडी कॉकटेल 'कासिरिविमैब और इमडेविमैब'  का पहला बैच मिलना शुरू हो गया है.

Written By : राज मिश्रा | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 25 May 2021, 09:45:54 AM
Antibody Cocktail

Antibody Cocktail (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • भारत में 'एंटीबॉडी कॉकटेल' के वितरण का काम 'सिप्ला' करेगी
  • दो दवाओं का मिश्रण है 'एंटीबॉडी कॉकटेल'

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Coronavirus) से जूझ रहे भारत को अब इस महामारी से जंग में एक और हथियार मिल गया है. कोविड की दूसरी लहर (Corona 2nd Wave) के दौरान कोरोना दवाओं की काफी किल्लत देखने को मिली थी. अब यदि तीसरी लहर आती है तो ये समस्या देखने को नहीं मिलेगी, क्योंकि देश में एंटीबॉडी की एक कॉकटेल (Antibody Cocktail) दवा की उपलब्धता देश में हो गई है. स्विट्जरलैंड की फॉर्मा कंपनी रॉश (Roche) और सिप्ला (Cipla) ने कोरोनो के लिए 'एंटीबॉडी कॉकटेल' (Antibody Cocktail) को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने बताया कि एंटबॉडी कॉकटेल 'कासिरिविमैब और इमडेविमैब'  (Casirivimab and Imdevimab) का पहला बैच मिलना शुरू हो गया है. दूसरा बैच जून से उपलब्ध होगा.

ये भी पढ़ें- कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों पर रहेगा कितना असर? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ 

बता दें कि ये वहीं दवा है जिसे अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति को दिया गया था, जब वे कोविड की चपेट में आए थे. इसके उपयोग की अमेरिका में भी अनुमति है, भारत सरकार ने भी इसके आपातकालीन उपयोग की अनुमति दे दी है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसकी दूसरी खेप जून मध्य तक देश में आ सकेगी. कुल मिलाकर इससे  2 लाख संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा सकता है. एक लाख पैक के एक पैकेट में 2 मरीजों का उपचार हो सकता है.'  भारत में 'एंटीबॉडी कॉकटेल' के वितरण का काम सिप्ला करेगी.

दो दवाओं का मिश्रण है कॉकटेल

'एंटीबॉडी कॉकटेल' दरअसल दो दवाओं का मिक्सचर है, ये दो दवाएं हैं- कासिरिविमाब (Casirivimab) और इमडेविमैब (Imdevimab). इन दोनों दवाओं के 600-600 MG मिलाने पर 'एंटीबॉडी कॉकटेल' दवा तैयार होती है. ये दवा दरअसल वायरस को मानवीय कोशिकाओं में जाने से रोकती है, जिससे वायरस को न्यूट्रिशन नहीं मिलता, इस तरह ये दवा वायरस को रेप्लिकेट करने से रोकती है. 

ये भी पढ़ें- ब्लैक और व्हाइट के बाद अब Yellow Fungus का दस्तक, जानें कितना खतरनाक और क्या हैं इसके लक्षण?

बच्चों के लिए भी है उपयोगी

कंपनी ने संयुक्त बयान जारी कर बताया कि इस दवा से माइल्ड और मॉडरेट लक्षण वालों के साथ हाई रिस्क वाले मरीजों का उपचार होगा. इस दवा का इस्तेमाल बच्चों पर भी किया जा सकता है. कंपनी ने बताया कि ये दवा वयस्कों के साथ 12 वर्ष या इससे अधिक उम्र और 40 किलो से अधिक वजन वाले कोरोना संक्रमित बच्चों के इलाज में इस्तेमाल हो सकेगी. कंपनी के अनुसार एक मरीज को दी जाने वाले कॉकटेल की एक डोज 59,750 रुपये तय की गई है. देशभर के कोविड अस्पतालों में इस दवा का वितरण सिप्ला करेगी.

प्रत्येक मरीज के लिए इस दवा (कासिरिविमैब 600 mg व इमडेविमैब 600 mg) की संयुक्त खुराक 1200 mg की कीमत  59,750 रुपये निश्चित की गई है. इस दवा के मल्टीडोज पैक की कीमत 1,19,500 रुपये हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह ड्रग सभी बड़े अस्पतालों व कोविड ट्रीटमेंट सेंटरों में उपलब्ध होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 25 May 2021, 09:45:54 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.