News Nation Logo

Corona Vaccination : इन बीमारियों से ग्रसित 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगेगा टीका, मगर देना होगा सबूत

भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी से हो चुकी है. वैक्सीनेशन के पहले चरण में हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 28 Feb 2021, 10:12:51 AM
Corona Vaccination

45 साल से अधिक है उम्र तो जानिए कैसे मिल पाएगी वैक्सीन, ये है नियम (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी से हो चुकी है. वैक्सीनेशन के पहले चरण में हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई. अब देश में एक मार्च से वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू होने जा रहा है. इस चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी. इस चरण में 45 साल से ऊपर के ऐसे लोगों को भी टीका लगाया जाएगा, जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को उन बीमारियों की लिस्ट जारी की, जिससे पीड़ित 45 से 59 साल के लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा सकेगी. हालांकि उन लोगों को अपनी बीमारी का मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा, जिसके बाद ही उन्हें वैक्सीन दी जाएगी.

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस के इस दौर में सरसों के तेल से बढ़ाएं इम्युनिटी, फायदे जान रह जाएंगे हैरान

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की बीमारियों की लिस्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐसी 20 बीमारियों को लिस्ट में शामिल किया है, जिससे बीमार लोगों (45 से 59 साल) को टीका लगाया जाएगा. इन गंभीर बीमारियों में किडनी, लीवर, ल्यूकेमिया, डायबिटीज (शुगर), एचआईवी ग्रसित, बोन मेरो फेलियर, हाइपरटेंशन और हार्ट फेलियर शामिल हैं. इसके अलावा भी कई और गंभीर बीमारियां हैं, जिनसे ग्रसित लोगों को वैक्सीन दी जाएगी, जिसमें कैंसर से पीड़ित लोग शामिल हैं.

वैक्सीन के लिए दिखाना होगा सबूत

45 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन के लिए कुछ सबूत दिखाने होंगे. वैक्सीन की डोज लेने वाले लोगों को अपने साथ एक फोटो आईडी दस्तावेज लेकर जाना होगा, जिसमें आधार कार्ड, वोटर आईडी भी शामिल हैं. वहीं 45 साल से उम्र के लोगों को वैक्सीन के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी गंभीर बीमारी से पीड़ित होने का साक्ष्य दिखाना होगा. यह साक्ष्य किसी रजिस्टर्ड डॉक्टर्स द्वारा प्रमाणित होना चाहिए, अन्यथा आपको वैक्सीन की डोज नहीं मिल पाएगी.

यह भी पढ़ें : लहसुन खाएंगे तो कम होगा ऐसी गंभीर बीमारियों का खतरा, सेहत को कई फायदे

वैक्सीन की 1 खुराक की कीमत 250 रुपये में

आपको यह भी बता दें कि केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन की एक खुराक की कीमत 250 रुपये निर्धारित की है, जो 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए निजी अस्पतालों में उपलब्ध होगी. वैक्सीन की एक खुराक के लिए कॉस्ट-ब्रेकअप 150 रुपये बताई जा रही है और इसमें सेवा शुल्क के रूप में 100 रुपये और जुड़ जाएंगे और फिर निजी अस्पताल लाभार्थियों से कीमत वसूलेंगे. हालांकि इस संबंध में आधिकारिक घोषणा होने पर कीमत में बदलाव संभव है. सरकार ने फैसला किया है कि लोगों को सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीका लगाया जाएगा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 28 Feb 2021, 10:12:51 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.