News Nation Logo
Banner

4.14 लाख से आज 60 हज़ार पहुंचा कोरोना का आंकड़ा, एक्टिव केस घटकर 9 लाख : स्वास्थ्य मंत्रालय

 देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप अभी भी जारी है. हालांकि अब नए मामलों में काफी गिरावट दर्ज की जा रही है, लेकिन मौतों की संख्या अभी भी ज्यादा है. देश में वर्तमान कोरोना की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 15 Jun 2021, 05:48:10 PM
HM

स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस (Photo Credit: News Nation)

highlights

दैनिक मामलों में अब 85 फीसदी की कमी

पहली और दूसरी लहर में बच्चों में संक्रमण

ट्रेलिंग और कंटेनमेंट पर जोर

दिल्ली :

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप अभी भी जारी है. हालांकि अब नए मामलों में काफी गिरावट दर्ज की जा रही है, लेकिन मौतों की संख्या अभी भी ज्यादा है. देश में वर्तमान कोरोना की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने कहा कि  देश में सबसे ज्यादा कोरोना के ममे 4.14 लाख थे, वहां से घटकर अब देश में कोरोना के केस 60 हज़ार तक पहुंच गये है. उन्होंने बताया कि देश के 27 राज्यों में प्रतिदिन 1 हज़ार से कम केस आ रहें है. देश के 165 जिलों में 100 केस प्रतिदिन आ रहे हैं जबकि पहले 531 जिले ऐसे थे जहां से इतने केस आ रहे थे.

बता दें कि देश में अब एक्टिव केस 37 लाख से घटकर 9 लाख रह गये है. लगभग 65 दिनों के बाद 10 लाख से कम देश में एक्टिव केस है. वहीँ कोरोना से रिकवरी रेट की बात करें तो यह भी  95% से ज्यादा है. अभी भी देश में 18 लाख से अधिक टेस्ट दिनभर में किये जा रहें है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि आयु वर्ग के आधार पर संक्रमण का कोई खास खतरा नहीं है. बच्चे संक्रमित हो सकते है लेकिन ज्यादा घबराने की जरुरत नहीं है. 

नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि अब ट्रेलिंग और कंटेनमेंट पर जोर देना होगा क्योकि संक्रमण कम है. उन्होंने कहा कि अब वेरियेंट बदल चुका है और वायरस ज्यादा चालाक है. अब वेरियेंट बदल चुका है. अब वायरस ज्यादा चालाक है. डॉ वीके पॉल ने कहा कि अगले सप्ताह से टीकाकरण तेज़ होगा।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कोरोना संक्रमण की पहली लहर के दौरान एक से 10 साल की आयु वर्ग के 3.28 फीसदी बच्चे इस बीमारी की चपेट में आए थे। जबति दूसरी लहर के दौरान यह आंकड़ा 3.05 फीसदी रहा है. वहीं, पहली लहर में 11-20 वर्ष के 8.03 फीसदी बच्चे संक्रमित हुए थे और दूसरी लहर में 8.5 फीसदी इस कोरोना वायरस से संक्रमित हुए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछली बार एक दिन में दर्ज किए कोरोना के सबसे ज्यादा मामलों के बाद से दैनिक मामलों में अब 85 फीसदी की कमी आ चुकी है. मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हम यह स्थिति 75 दिन बाद देख रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह इस बात का संकेत है कि संक्रमण की दर में गिरावट आ रही है.

First Published : 15 Jun 2021, 04:17:42 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.