News Nation Logo
Banner
Banner

कोरोना केस में 79% की कमी, रिकवरी रेट 81% से बढ़कर 94% : स्वास्थ्य मंत्रालय

देश के वर्तमान कोरोना परिस्थिति पर आज स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने कहा कि देश में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 08 Jun 2021, 04:52:29 PM
corona virus

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: File)

दिल्ली :

पिछले कुछ दिनों में भारत में कोरोना के नए मामलों में लगातार गिरावट देखी गई है, जो देश के लिए बड़ी राहत है. यहां इस वक्त हर 24 घंटे में मामलों की संख्या एक लाख के आसपास बनी हुई है तो मौतें भी 3,000 की संख्या से नीचे हैं. कोरोना पर काबू पाए जाने के बाद देश एक बार फिर अनलॉक के दौर में चल पड़ा है, जिसका दूसरा चरण सोमवार को शुरू हुआ. देश के वर्तमान कोरोना परिस्थिति पर आज स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने कहा कि देश में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry Press Conference) के प्रवक्ता लव अग्रवाल (Luv Agrawal) ने बताया कि देश में कोरोना के केस में 79% की कमी आई है. पिछले 7 मई को देश में कोरोना के कुल 4.14 लाख मामले थे और आज सिर्फ 86498 केस हैं. देश में एक्टिव केस की संख्या भी लगातार घट रही है. बीते एक महीने में 24 लाख  कोरोना के केस कम हुए हैं. देश में एक्टिव केस की संख्या 37.46 लाख से कम होकर 13.03 रह गए है. अभी देश के 209 जिलों में प्रतिदिन 100 केस आ रहे हैं, पहले कुल 531 ऐसे जिले थे.
देश में रिकवरी रेट भी 81% से बढ़कर 94% हो चुका है.

डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि अनलॉकिंग के बाद जनता कोविड अप्रोपियेट बिहेवियर नहीं रखेंगे तो अगली covid वेव आना निश्चित है. उन्होंने कहा कि जब तक टीकाटकरण अभियान एक सीमा तक नहीं पहुंच जाता तब तक लहर आती रहेगी। उन्होंने बताया कि पहली और दुसरी वेव में बच्चे संक्रमित तो हुए पर लक्षण ज्यादा नहीं दिखे. 7 जून को ही नई नीति को पीएम ने सैद्धांतिक मंजूरी दे दी थी. जिसके पीछे 15 और 21 मई की राज्यों के साथ पीएम की बैठक थी. लाभार्थियों में सबसे पहले हैल्थ वर्कर, फिर फ्रंट लाइन वर्कर, 45+ आयु और फिर जिन्हे दूसरी डोज देनी है और अंत में 18+ आयुवर्ग के लोग होंगे। राज्य सरकार अपनी इच्छा से प्रायकोर्टी सेट कर सकते है. राज्यों को वैक्सीन सप्लाई की जानकारी पहले से दी जाएगी.

First Published : 08 Jun 2021, 04:10:28 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.