News Nation Logo
Banner

चीन के पहले कोविड-19 टीके को मिली मंजूरी, साइनोफार्मा ने किया है विकसित

चीन ने 30 दिसंबर को सार्वजनिक उपयोग के लिए अपने पहले कोविड-19 टीके को मंजूरी दे दी. चीन की फार्मास्युटिकल दिग्गज कंपनी साइनोफार्मा ने इस टीके को विकसित किया है, और यह चीन का पहला कोविड-19 टीका है जो सामान्य सार्वजनिक उपयोग के लिए स्वीकृत हो गया है.

IANS | Updated on: 03 Jan 2021, 09:49:00 PM
vaccine covid 19

चीन के पहले Covid-19 टीके को मंजूरी, साइनोफार्मा ने किया है विकसित (Photo Credit: File Photo)

बीजिंग:

चीन ने 30 दिसंबर को सार्वजनिक उपयोग के लिए अपने पहले कोविड-19 टीके को मंजूरी दे दी. चीन की फार्मास्युटिकल दिग्गज कंपनी साइनोफार्मा ने इस टीके को विकसित किया है, और यह चीन का पहला कोविड-19 टीका है जो सामान्य सार्वजनिक उपयोग के लिए स्वीकृत हो गया है. इतना ही नहीं, इसे चीन के राष्ट्रीय चिकित्सा उत्पाद प्रशासन (एनएमपीए) से एक सशर्त बाजार प्राधिकरण भी मिल चुका है. दरअसल, सशर्त प्राधिकरण का उपयोग तब किया जाता है जब किसी जानलेवा बीमारी के लिए कोई प्रभावी उपचार उपलब्ध नहीं होता है, या जब अपूर्ण नैदानिक डेटा या पंजीकरण विवरण होता है.

यह असामान्य नहीं है. चीन में एचपीवी टीके को भी सशर्त प्राधिकरण दिया गया था, जिसे चीन में सिर्फ दो साल के लिए ही लागू किया गया. हालांकि, टीके को अभी भी कुछ नैदानिक अनुसंधान परिणामों की आवश्यकता है और सार्वजनिक उपयोग के लिए सशर्त स्वीकृति प्रदान करने के लिए हर तरह की जांच से गुजरना होता है. उनके पूरी तरह से अधिकृत होने से पहले नैदानिक परीक्षण डेटा और पोस्ट-रिसर्च का अवलोकन किया जाएगा.

साइनोफार्मा का टीका निष्क्रिय है, जिसका अर्थ है कि इसे अत्यधिक ठंड की आवश्यकता नहीं है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों और विकासशील देशों में भंडारण और वितरण करना आसान हो जाता है. जबकि वर्तमान में, मॉडर्ना और फाइजर-बायोएनटेक के टीके दोनों एमआरएनए टीके हैं, जिन्हें क्रमश: माइनस 20 सेल्सियस और माइनस 70 सेल्सियस में रखना पड़ता है.

उपलब्ध मौजूदा आंकड़ों पर नजर डालें, तो चीन का टीका सुरक्षित है. चीन ने जुलाई में साइनोफार्मा के वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी, और नवंबर 2020 के अंत तक, 15 लाख से अधिक टीके खुराक का कोई खराब असर देखने को नहीं मिला. इसके अलावा, कई देशों में 125 राष्ट्रीयताओं के 60,000 से अधिक लोगों ने फेज-3 के नैदानिक परीक्षणों में भाग लिया.

फिलहाल, फेज-3 के नैदानिक परीक्षणों के अंतरिम परिणामों को देखें, तो अनुमोदित निष्क्रिय टीके ने कोविड-19 के खिलाफ 79.34 प्रतिशत प्रभावकारिता दिखाई है. इसका मतलब यह है कि टीका लगवाने वाले लोग संक्रमित होने से 80 प्रतिशत सुरक्षित हैं.

First Published : 03 Jan 2021, 09:49:00 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.