News Nation Logo
Banner

हैदराबाद: 'मछली प्रसादम' खाने जुटे हजारों लोग, अस्थमा ठीक होने का दावा

अस्थमा के इलाज के लिए मुफ्त 'मछली प्रसादम' को ग्रहण करने शुक्रवार सुबह से ही लाइन लग गई थी।

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Singh | Updated on: 09 Jun 2017, 11:57:55 PM

नई दिल्ली:

हैदराबाद के नंपली एक्जिबिशन ग्राउंड्स में अस्थमा के इलाज के लिए मुफ्त 'मछली प्रसादम' को ग्रहण करने शुक्रवार सुबह से ही लाइन लग गई थी। बता दें कि यहां बाधिनी गौड़ परिवार कई वर्षों से अस्थमा की दवाई पीड़ितों को बांट रहा है।

जानकारी के अनुसार यह परिवार हर्बल पेस्ट से भरी 3 सेंटीमीटर लंबी जिंदा मुरल मछली को अस्थमा के मरीजों के मुंह में डालता है, जिससे उन्हें इस बीमारी से छुटकारा मिल जाता है। माना जाता है कि 3 साल तक लगातार इस प्रसाद का सेवन करने से अस्थमा और सांस संबंधी सभी बीमारी पूरी तरह से ठीक हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: रोजाना एक अंडे का सेवन बच्चों की सेहत के लिए लाभदायक

परिवार ने बताया कि इस साल 35,000 लोगों को मछली प्रसादम बांटा गया। उन्होंने बताया कि एक लाख मछली के बच्चों की सप्लाई की व्यवस्था की गई है। इस दवाई का राज गौड़ परिवार तक ही सीमित है। इसके बारे में उन्हें किसी संत ने बताया था।

इसे भी पढ़ें: भारत में डायबिटीज अब शहरी गरीबों पर कर रही हमला

वैसे तो इस प्रसाद को लेकर काफी विवाद है। पर इस चमत्कारी दवा को लेने के लिए सुबह 8 बजे से ही देश-विदेश से आए हजारों लोगों की भीड़ जमा थी। भीड़ से निपटने के लिए पुलिस की तरफ से इंतजाम किए गए थे।

इस प्रसाद के वितरण का आयोजन साल में एक बार होता है। जानकारी के अनुसार बाधिनी गौड़ परिवार करीब 170 सालों से इस अनूठे उपचार शिविर का आयोजन करता है। यह आयोजन मानसून की शुरुआत में जून में हर साल मृगसिरा कार्ती की रात में होता है।

इसे भी पढ़ें: दिल की सेहत के लिए अच्छा होता सरसों के तेल में खाना पकाना

 

First Published : 09 Jun 2017, 11:52:00 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Fish Prasadam

वीडियो