logo-image
लोकसभा चुनाव

मध्य प्रदेश: टिकट कटने पर बोले सांसद ज्ञान सिंह- भ्रष्टाचार में शामिल न होने की सजा मिली

गौरतलब है कि इस संसदीय सीट से बीजेपी ने ज्ञान सिंह का टिकट काटकर आदिवासी राजघराने से नाता रखने वाली हिमाद्री सिंह को दिया है.

Updated on: 27 Apr 2019, 11:22 AM

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शहडोल संसदीय क्षेत्र का चुनाव भारतीय जनता पार्टी के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है. टिकट कटने से बगावत पर उतरे मौजूदा सांसद ज्ञान सिंह (Gyan Singh) अब अपनी ही पार्टी को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी जो 1980 में थी वो अब नहीं रही है. जब ये आडवाणी जी के सगे नहीं तो मैं तो गरीब आदिवासी हूं.

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश: चुनाव आयोग ने इस विवादित बयान पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को दी क्लीन चिट

शहडोल (Shahdol) से सांसद ज्ञान सिंह ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, '2016 में जनजातीय कार्य मंत्री था तो मुझे बलि का बकरा बनाया गया. अब मैं मारा गया, क्योंकि मैंने कमीशन नहीं खाया और न ही भ्रष्टाचार में शामिल हुआ. मैंने शिवराज सिंह (Shivraj Singh) को बताया था कि मैं भ्रष्टाचार में शामिल नहीं हो पाऊंगा.' उन्होंने आगे कहा कि मुझे टिकट न मिलने से नाराजगी नहीं है, मैं हिमाद्रि को टिकट देने से नाराज हूं.

इसके अलावा सांसद ज्ञान सिंह ने पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) जो 1980 में थी वो अब नहीं रही है. उन्होंने आगे कहा, 'जब आडवाणी जी सगे नहीं तो मैं तो गरीब हैं. मैं सभी नेताओं से पूछता हूं कि क्या टिकट बिक तो नहीं गई.' साथ ही ज्ञान सिंह ने कहा कि अब उनकी नाराजगी दूर नहीं होगी.

यह भी पढ़ें- मध्‍य प्रदेश के पहले चरण में कमलनाथ की राजनीतिक विरासत दांव पर

गौरतलब है कि इस संसदीय सीट से बीजेपी (BJP) ने ज्ञान सिंह का टिकट काटकर आदिवासी राजघराने से नाता रखने वाली हिमाद्री सिंह को दिया है. हिमाद्री सिंह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुई हैं. हिमाद्री ने उपचुनाव कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर लड़ा था, मगर उन्हें हार मिली थी. उसके बाद वह कांग्रेस (Congress) छोड़ बीजेपी में शामिल हो गई और बीजेपी ने उन्हें टिकट दे दिया.

यह वीडियो देखें-