News Nation Logo
Banner

टिकटॉक पर प्रतिबंध का फायदा नहीं, शेयरइट के जरिए एप को कर सकते हैं साझा

गूगल और एप्पल ने सरकार के अनुरोध के बाद चीनी शार्ट वीडियो शेयरिंग एप के डाउनलोड पर रोक लगा दी है

IANS | Updated on: 17 Apr 2019, 10:19:12 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

ऩई दिल्ली:

भारत में करोड़ों लोग टिकटॉक का इस्तेमाल पहले से ही कर रहे हैं और उन सब के पास इस एप को अन्य के साथ साझा करने का विकल्प है. इसलिए गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर पर इसकी पहुंच को रोकने का वांछित नतीजा नहीं निकलेगा. ऐसा विशेषज्ञों का कहना है. टिकटॉक बच्चों में भी काफी लोकप्रिय है, लेकिन 'पोर्नग्राफिक कंटेंट' के भी प्रसार को लेकर इसकी चौतरफा आलोचना हो रही है. गूगल और एप्पल ने सरकार के अनुरोध के बाद चीनी शार्ट वीडियो शेयरिंग एप के डाउनलोड पर रोक लगा दी है. मार्केट रिसर्च फर्म टेकएआरसी के मुताबिक, लेकिन कई ऐसी तकनीक उपलब्ध हैं, जिससे इस प्रतिबंध का असर नहीं होगा. टेकएआरसी के संस्थापक और मुख्य विश्लेषक फैसल काबूसा ने बताया कि टिकटॉक का कोई भी वर्तमान यूजर जिसने अपने स्मार्टफोन में इस एप को इंस्टाल कर रखा है, शेयरइट के जरिए इस एप को किसी के भी साथ साझा कर सकता है. एक बार एप साझा करने के बाद बड़े आराम से इसे इंस्टाल किया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें - तेलंगाना बोर्ड रिजल्ट : कल घोषित होगा 11th, 12th, 11th vocational और 12th vocational का रिजल्ट

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा तीन अप्रैल को मद्रास उच्च न्यायालय के मूल आदेश पर रोक लगाने से इनकार करने के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने गूगल और एप्पल से इस एप को ब्लॉक करने को कहा था. मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ ने मंगलवार को टिकटॉक पर लगाए गए प्रतिबंध को हटाने से इनकार कर दिया और मामले की अगली सुनवाई का दिन 24 अप्रैल निर्धारित किया है. टिकटॉक का स्वामित्व चीनी प्रौद्योगिकी कंपनी बाइटडांस के पास है, जिसका कहना है कि भारत में उसके 12 करोड़ सक्रिय यूजर्स हैं.

First Published : 17 Apr 2019, 10:19:06 PM

For all the Latest Gadgets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो