News Nation Logo

Fact Check : क्या FASTag लगाने की डेड लाइन फिर से बढ़ी, जानें सच

सड़क परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा पर इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से टोल शुल्क वसूलने की समय सीमा अब 15 फरवरी कर दी है. जिसके बाद से इसके बारे में लोगों की जानने की जिज्ञासा बढ़ गई है कि सच में सरकार ने समय सीमा बढ़ा दी गई.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 03 Jan 2021, 03:35:21 PM
FASTag

फैक्ट चेक (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

फास्टैग को लेकर सोशल मीडिया पर एक न्यूज वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि सड़क परिवहन मंत्रालय ने नेशनल हाइवेज पर FASTag के माध्यम से टोल संग्रह को पूरी तरह से लागू करने की समय सीमा एक बार फिर बढ़ा दी है. सड़क परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा पर इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से टोल शुल्क वसूलने की समय सीमा अब 15 फरवरी कर दी है. जिसके बाद से इसके बारे में लोगों की जानने की जिज्ञासा बढ़ गई है कि सच में सरकार ने समय सीमा बढ़ा दी गई.

यह भी पढ़ें : Fact Check: तो क्या CBSE ने परीक्षाओं की Date Sheet भी जारी कर दी है?

वायरल हो रही न्यूज की पूरी पड़ताल पीआईबी फैक्ट ने पूरी सच्चाई का पता लगाया है. पीआईबी फैक्ट चेक में यह खबर सही साबित हुई है. पीआईबी फैक्ट चेक ने अपने ट्विटर हैंडल पर पूरी सच्चाई पोस्ट की है. पीआईबी ने लिखा- दावा किया जा रहा है कि फास्टैग के माध्यम से राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल शुल्क के संग्रह की समय सीमा बढ़ाई गई है. PIB Fact Check में हां,@MORTHIndia राष्ट्रीय राजमार्गों पर FASTag के माध्यम से टोल शुल्क के संग्रह की समय सीमा 15 फरवरी 2021 तक बढ़ा दी है. पीआईबी फैक्ट चेक में यह खबर सत्य है. 

यह भी पढ़ें : Fact Check: टिकट होने के बावजूद राजधानी एक्सप्रेस से उतारे गए मजदूर

बता दें कि पहले 1 जनवरी से देश भर में फास्टैग को अनिवार्य किया जाना था, लेकिन अब फास्टैग को लगाने की समय सीमा आगे बढ़ाई जा चुकी है, ऐसे में आपको अब बिना फास्टैग के टोल प्लाजा से गुजरने पर दुगना टोल नहीं भरना पड़ेगा.

First Published : 03 Jan 2021, 03:35:21 PM

For all the Latest Fact Check News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.