News Nation Logo
Banner

दूरसंचार विभाग में रजिस्ट्रेशन चार्ज के लिए मांगे 15,360 रुपए, जानें क्या है मामला?

भारत सरकार के दूरसंचार विभाग की ओर से दावा करने वाला एक लेटर सोशल मीडिया की साइटों पर पंजीकरण शुल्क के बहाने भुगतान की मांग कर रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 11 Apr 2022, 08:06:53 PM
pib

fact check (Photo Credit: twitter)

highlights

  • पंजीकरण शुल्क के बहाने भुगतान की मांग कर रहा है पत्र
  • इसे पीबीआई फैक्ट चेक ने फर्जी बताया है

नई दिल्ली:  

आजकल आनलाइन ठगी (Online fraud) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इस बीच दूरसंचार विभाग  (Department of telecommunications) के नाम से ठगी का मामला सामने आया है.    पहले दूरसंचार विभाग में नौकरी, सिक्योरिटी मनी (Security money)  और फिर 4जी/ 5जी टॉवर लगवाने का  मैसज भेजकर ठगी का शिकार बनाया जा रहा है. इस बीच रजिस्ट्रेशन चार्ज (Registration Charge)  के  बहाने 15,360 रुपए के भुगतान का एक पत्र सोशल मीडिया (Social Media)  पर वायरल हो रहा है, इसको लेकर लोगों से पीआईबी फैक्ट चेक (PIB Fact Check) ने सावधान रहने की अपील की है. गौरतलब है कि भारत सरकार के दूरसंचार विभाग की ओर से दावा करने वाला एक लेटर सोशल मीडिया की साइटों पर पंजीकरण शुल्क के बहाने भुगतान की मांग कर रहा है.

दूरसंचार विभाग (DoT) के नाम से जारी एक आवेदन प्रस्ताव में पंजीकरण शुल्क के बहाने 15,360 की डिमांड की जा रही है. इसे पीबीआई फैक्ट चेक ने फर्जी बताया है और इन दस्तावेजों को पूरी तरह से नकली बताया है.

पीआईबी फैक्ट चेक ने वायरल लेटर ट्वीट करते हुए लोगों को सतर्क किया है. इसके साथ ही  बताया कि दूरसंचार विभाग के नाम से जारी प्रस्ताव, जिसमें पंजीकरण शुल्क (registration charge) के बहाने 15,360 रुपए के भुगतान की मांग हो रही है. यह दस्तावेज फर्जी है. ऐसे प्रस्ताव के बहकावे में न आने की अपील करते हुए कहा कि ️अपनी व्यक्तिगत या कोई वित्तीय जानकारी कभी भी साझा ना करके धोखेबाजों से अपनी सुरक्षा करें.

 

First Published : 11 Apr 2022, 07:59:27 PM

For all the Latest Fact Check News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.