News Nation Logo
Banner

ईडी के सामने पेश हुए टॉलीवुड निर्देशक पुरी जगन्नाथ

ईडी के सामने पेश हुए टॉलीवुड निर्देशक पुरी जगन्नाथ

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 31 Aug 2021, 08:55:01 PM
Tollywood director

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

हैदराबाद: जाने-माने तेलुगु फिल्म निर्देशक पुरी जगन्नाथ चार साल पुराने ड्रग मामले से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए।

जांच के सिलसिले में तलब किए जाने के बाद जगन्नाथ अपने चार्टर्ड अकाउंटेंट के साथ ईडी अधिकारियों के सामने पेश हुए।

ईडी ने पिछले हफ्ते टॉलीवुड से जुड़े 10 लोगों और एक निजी क्लब मैनेजर सहित दो अन्य को अपनी जांच के तहत नोटिस जारी किया था।

जगन्नाध के अलावा, एक्ट्रेस रकुल प्रीत सिंह, राणा दग्गुबाती, रवि तेजा, चार्मी कौर, नवदीप, मुमैथ खान को 31 अगस्त से 22 सितंबर के बीच ईडी के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।

जिन लोगों को तलब किया गया है उनमें तनीश, नंदू, अभिनेता रवि तेजा के ड्राइवर श्रीनिवास भी शामिल हैं।

पूछताछ से रैकेट के बारे में नए तथ्य सामने आने की संभावना है, जिसका भंडाफोड़ 2017 में ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के साथ हुआ था।

टॉलीवुड हस्तियों से पूछताछ शुरू करने से पहले, ईडी ने तेलंगाना के शराबबंदी और उत्पाद शुल्क विभाग के विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा की गई जांच का विवरण एकत्र किया।

ईडी द्वारा की गई पूछताछ ने मामले पर फिर से ध्यान आकर्षित किया है, जो कि ठंडे बस्ते में था और यहां तक कि कई लोगों द्वारा फिल्मी हस्तियों को एसआईटी द्वारा दी गई क्लीन चिट के कारण मृत भी माना गया था।

इस रैकेट का भंडाफोड़ 2 जुलाई, 2017 को हुआ था, जब सीमा शुल्क अधिकारियों ने संगीतकार केल्विन मस्कारेनहास और दो अन्य को गिरफ्तार किया था और उनके पास से 30 लाख रुपये की ड्रग्स जब्त की थी।

उन्होंने कथित तौर पर जांचकतार्ओं को बताया था कि वे फिल्मी हस्तियों, सॉफ्टवेयर इंजीनियरों और यहां तक कि कुछ कॉपोर्रेट स्कूलों के छात्रों को ड्रग्स की आपूर्ति कर रहे थे। कुछ टॉलीवुड हस्तियों के मोबाइल नंबर कथित तौर पर उनकी संपर्क सूची में पाए गए थे।

आबकारी विभाग ने व्यापक जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था।

कुल 12 मामले दर्ज किए गए,और 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जबकि टॉलीवुड से जुड़े 11 लोगों सहित 62 लोगों की एसआईटी ने नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम की धारा 67 और आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 161 के तहत जांच की।

एसआईटी ने कुछ लोगों से रक्त, बाल, नाखून और अन्य नमूने एकत्र किए थे, जो उसके सामने पूछताछ के लिए आए थे और उन्हें विश्लेषण के लिए भेजा था।

इसने 12 में से आठ मामलों में चार्जशीट दाखिल की। हालांकि, टीम ने उन फिल्मी हस्तियों को क्लीन चिट दे दी, जिनसे जांच के तहत पूछताछ की गई थी।

जिन आरोपियों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं, उनमें दक्षिण अफ्रीकी नागरिक राफेल एलेक्स विक्टर और फिल्म उद्योग में प्रबंधक के रूप में काम करने वाले पुट्टकर रैनसन जोसेफ भी शामिल हैं।

जोसेफ प्रमुख अभिनेता काजल अग्रवाल के प्रबंधक थे जिन्होंने उनकी गिरफ्तारी के बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया था।

अधिकारियों ने आरोपियों से 3,000 यूनिट लिसेर्जिक एसिड डायथाइलैमाइड (एलएसडी), 105 ग्राम एमडीएमए (आमतौर पर एक्स्टसी के रूप में जाना जाता है), 45 ग्राम कोकीन और अन्य मादक और साइकोट्रोपिक पदार्थ बरामद किए थे।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 31 Aug 2021, 08:55:01 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.