logo-image
लोकसभा चुनाव

गाली-गलौच के बाद अब कंगना को धमकाने पर उतारू हुए राउत, बोले- पहले भी कई...

शिवसेना नेता संजय राउत और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना के बीच शुरू हुआ विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है. कंगना के खिलाफ गाली-गलौच वाली भाषा का इस्तेमाल करने के बावजूद संजय राउत कंगना से माफी मांगने को तैयार नही हैं, बल्कि अब उन्हे धमकी देने पर उतारु हो गए हैं

Updated on: 06 Sep 2020, 10:57 AM

नई दिल्ली:

शिवसेना नेता संजय राउत और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना के बीच शुरू हुआ विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है. कंगना के खिलाफ गाली-गलौच वाली भाषा का इस्तेमाल करने के बावजूद संजय राउत कंगना से माफी मांगने को तैयार नही हैं, बल्कि अब उन्हे धमकी देने पर उतारू हो गए हैं. राउत के हालिया ट्वीट से माना जा रहा है कि उन्होंने कंगना को इशारों ही इशारों में धमकी दे दी है. उन्होनें ट्वीट किया, 'मेरी हिम्मत को परखने की गुस्ताऱी न करना, पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चुका हूं.' राउत और कंगना के बीच का ये पूरा मामला सुशांत सिंह का आत्महत्या को लेकर शुरू हुआ था लेकिन अब महाराष्ट्र अस्मिता पर आकर खड़ा हो गया है.

बता दें, संजय राउत (Sanjay Raut) कंगना पर इस तरह बौखला गए हैं कि इससे पहले उन्होंने न्यूजनेशन से बातचीत में कंगना के खिलाफ गाली-गलौच भरे शब्दों का इस्तेमाल कर दिया था. इसके पहले शिवसेना कंगना रानौत के मुंबई आगमन पर धरना-प्रदर्शन की धमकी जारी कर चुकी है.

मुंबई की PoK से तुलना पर बवाल

गौरतलब है कि कंगना रानौत ने अपने खिलाफ हो रही पोस्टरबाजी और बयानबाजी को लेकर एक ट्वीट में कहा था कि मुंबई है या PoK. इस पर संजय राउत की प्रतिक्रिया के बाद कंगना ने खुलेआम चेतावनी देते हुए कहा कि वह भी एक मराठा हैं और 9 सितंबर को मुंबई पहुंच रही हैं. इसके साथ ही बॉलीवुड की 'रिवॉल्वर रानी' ने शिवसेना की चुनौती स्वीकार करते हुए कहा था कि मुंबई किसी की जागीर नहीं है, देखते हैं कौन उन्हें मुंबई आने से रोकता है. गौरतलब है कि कंगना के बयानों का विरोध करते हुए शिवसेना की महिला ईकाई ने न सिर्फ कंगना का पुतला फूंका, बल्कि मुंबई आने पर व्यापक विरोध-प्रदर्शन की धमकी दे डाली.

शिवसेना के तीखे सुर

इसी मसले पर बातचीत करने के लिए न्यूजनेशन संवाददाता सुभाष शिर्के जब शिवसेना सांसद संजय राउत के पास पहुंचे, तो उन्होंने कंगना रानौत के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर दिया. संजय राउत ने बातचीत में कहा, 'कंगना ने शिवाजी महाराज का अपमान किया है. मुंबई शहर ने उन्हें सब कुछ दिया है. कंगना के खिलाफ क्या करना है यह सिर्फ शिवसेना का काम नहीं, बल्कि कांग्रेस, एनसीपी समेत पूरे महाराष्ट्र को देखना होगा...'

इसके बाद हमारे संवाददाता के कानून-व्यवस्था से जुड़े अगले प्रश्न पर संजय राउत ने आपा खोते हुए कहा, 'क्या होता है कानून...जो लड़की ने बात की वह कानून है? ह..... है वह लड़की, आप उसकी वकालत कर रहे हैं. उसने शिवाजी महाराज का अपमान किया है. महाराष्ट्र का अपमान किया है.' जाहिर सी बात है संजय राउत के गाली-गलौच भरा व्यवहार कहीं न कहीं संकेत दे रहा है कि कंगना के बेबाक बयानों ने महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार को असहज कर दिया है.