News Nation Logo

JNU के लेफ्टिस्ट गैंग पर फूटा पायल रोहतगी का गुस्सा, कहा- प्रियंका गांधी करती हैं उन्हें सपोर्ट

पायल रोहतगी ने कहा कि जेएनयू के अंदर एबीवीपी स्टूडेट्स पर लाठी चार्ज और पत्थरबाजी हो रही है जो कि लेफ्टिस्ट (वामपंथी) गैंग करवा रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vivek Kumar | Updated on: 06 Jan 2020, 01:14:34 PM
Payal Rohtagi

Payal Rohtagi (Photo Credit: Instagram Grab)

नई दिल्ली:  

अक्सर अपने बेबाक बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली पायल रोहतगी ने अब एक बार फिर अपने बयानों को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं. पायल ने जेएनयू में हुए हिंसा को लेकर अपना वीडियो ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. पायल बता रही हैं कि जेएनयू में कैसे आतंक हो रहा है.

उन्होंने कहा कि जेएनयू के अंदर एबीवीपी स्टूडेट्स पर लाठी चार्ज और पत्थरबाजी हो रही है जो कि लेफ्टिस्ट (वामपंथी) गैंग करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि एबीवीपी छात्रों की कुछ मांग थी जो कि लेफ्टिस्ट गैंग को पसंद नहीं आई. पायल ने इन लेफ्टिस्ट गैंग को एंटी सीएए विरोधी बताते हुए कहा कि ये स्टूडेंट्स के रुप में आतंवाद हैं.

अपने इस 2.12 सेकंड के वीडियो में पायल ने प्रियंका गांधी पर भी अपना निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी इन्हें सपोर्ट करती हैं. अपने इस वीडियो में पायल कहती है कि जेएनयू को बंद करने की मांग बिल्कुल सही है.

वहीं जेएनयू हिंसा की नैतिक जिम्‍मेदारी लेते हुए साबरमती हॉस्‍टल के वार्डन आर मीणा ने इस्‍तीफा दे दिया है. इस्‍तीफा देते हुए आर मीणा ने कहा, छात्रों की सुरक्षा प्रदान करना उनकी जिम्मेदारी थी और वह इसमें असफल रहे. इससे पहले JNU में एक दिन पहले हुई हिंसा को लेकर दिल्‍ली पुलिस ने अपनी ओर से एफआईआर दर्ज कर ली है. दूसरी ओर, अस्पताल में भर्ती 23 घायल छात्रों को छुट्टी दे दी गई है.

जेएनयू में हिंसा को लेकर दिल्‍ली पुलिस के पास तीन शिकायतें आई थीं. दिल्ली पुलिस का कहना है कि हमें JNU की हिंसा पर कई शिकायतें मिली हैं, जिनपर हम जांच शुरू करेंगे. JNU हिंसा की जांच दिल्ली पुलिस की ज्‍वाइंट कमिश्‍नर शालिनी सिंह करेंगी. उनके नेतृत्‍व में 4 इंस्पेक्टर और दो एसीपी भी जांच टीम में शामिल होंगे.

बता दें कि JNU कैंपस में 8 अक्टूबर से फीस वृद्धि के खिलाफ छात्रसंघ समेत आम छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी के विरोध में छात्रों ने दिसंबर में सेमेस्टर एग्‍जाम का बहिष्‍कार किया था. 5 जनवरी यानी रविवार को विंटर सेमेस्टर में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन का आखिरी दिन था. दो दिन तक लेफ्ट संगठनों ने सर्वर रूम पर कब्जा जमा रखा था, जिससे रजिस्ट्रेशन में कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. रविवार शाम को कैंपस के टी प्वाइंट के सामने छात्र विरोध दर्ज कर रहे थे.

First Published : 06 Jan 2020, 01:03:09 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

JNU Protest JNU Voilence