News Nation Logo

पंकज त्रिपाठी ने ओटीटी प्लेटफॉर्म को लेकर की बात

पंकज त्रिपाठी ने ओटीटी प्लेटफॉर्म को लेकर की बात

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Nov 2021, 03:05:02 PM
Pankaj Tripathi

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

मुंबई: पंकज त्रिपाठी ने कई पुरस्कृत परियोजनाओं के साथ फिल्मों और वेब श्रृंखलाओं के माध्यम से उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। विभिन्न ओटीटी प्लेटफार्मों के आगमन के साथ, कलाकारों के लिए भी जगह बदल रही है।

ऑडियो विजुअल क्षेत्र में काम करने की इच्छा रखने वाले किसी भी कलाकार के लिए आज कहीं अधिक अवसर हैं। इस बात ने स्वाभाविक रूप से ओटीटी से भयंकर कॉम्पटीशन के कारण सिनेमाघरों में हिट होने के बारे में एक बहस शुरू कर दी है।

पंकज दोनों माध्यमों के बारे में एक अलग ²ष्टिकोण रखते हैं। जब उनसे पूछा गया कि वह सिनेमा और ओटीटी के बारे में क्या सोचते हैं, तो वह एक स्पष्ट जवाब देते हैं जो दो माध्यमों के लिए हो रही किसी भी बहस को बंद कर सकता है।

वे कहते हैं कि एक अभिनेता के रूप में, मुझे सिनेमा के माध्यम और ओटीटी के बीच बहुत अंतर नहीं दिखता है। सिनेमा समुदाय को देखने का अनुभव प्रदान करता है। 300 लोग सामूहिक रूप से भावनाओं के एक ही सेट से गुजरते हैं। वे हंसते हैं, रोते हैं और पात्रों के साथ सहानुभूति रखते हैं।

वह आगे कहते हैं कि जब बटरेल्ट ब्रेख्त (एक जर्मन थिएटर प्रैक्टिशनर, नाटककार और कवि) ने अपने नाटक किए, तो वे दर्शकों के बीच अपने अभिनेताओं को 5 अलग-अलग जगहों पर बिठाते थे। उन्होंने उन्हें पहले हंसने के लिए कहा, उनकी हंसी तब सभी को हंसाते हुए पूरे सभागार में फैल गई। यही थिएटर का सार है।

सिनेमा और ओटीटी के बीच एक स्पष्ट रेखा खींचते हुए, अभिनेता कहते हैं कि ओटीटी एक एकल चीजें देखने का अनुभव है। जिसे आप अपने लैपटॉप और फोन स्क्रीन पर देखते हैं। सामुदायिक अनुभव और अलगाव में रहना दोनों आवश्यक हैं। जिंदगी की तरह फिल्में भी दोनों अनुभवों का मिश्रण हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Nov 2021, 03:05:02 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.