News Nation Logo
Banner

ऐसे ही नहीं मिला श्रीराम राघवन की फिल्म 'अंधाधुन' को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड, ये थी वजह

इस फिल्म में आयुष्मान खुराना का जबरदस्त अभिनय देखने को मिलता है.

By : Akanksha Tiwari | Updated on: 09 Aug 2019, 07:10:18 PM
अंधाधुन

नई दिल्ली:

नेशनल फिल्म अवार्ड 2019 (National Film Awards ) की घोषणा हो चुकी है. 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में आयुष्मान खुराना (Ayushman Khurana) और तब्बू (Tabu) अभिनीत अंधाधुन (Andhadhun) अंधाधुन को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड मिला है. फिल्म में आयुष्मान के अलावा एक्ट्रेस तब्बू और राधिका आप्टे भी अहम किरदार में थीं. तो वहीं अनंत विजय को सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म क्रिटिक अवार्ड मिला. बेस्ट एक्टर का अवार्ड- विक्की कौशल, आयुष्मान खुराना को मिला है. आयुष्मान खुराना को ये अवार्ड फिल्म अंधाधुन के लिए ही मिला है.

यह भी पढ़ें- प्रियंका चोपड़ा जेठानियों के साथ ससुराल में गुजार रही हैं समय, शेयर की तस्वीरें

बॉलीवुड में सस्पेंस से भरी फिल्में तो कई सारी बन चुकी हैं, लेकिन आखिरी सीन तक कुर्सी से जकड़कर बांध रख पाने वाली फिल्म 'अंधाधुन' (Andhadhun) को ये अवार्ड मिलना वाकई बहुत अच्छी बात है. फिल्म में आंख पर काला चश्मा लगाए आकाश (आयुष्मान खुराना) की असलियत को पहचान बहुत मुश्किल है इसी वजह से आप आखिरी सीन तक का इंतजार करते रहते हैं.

फिल्म की कहानी पुणे में मौजूद अंधे शख्स आकाश (आयुष्मान खुराना) के साथ शुरू होती है, जो एक कमरे के भीतर पियानो पर अपने अंगुलियों के जरिए धुन की तलाश करता है. वह एक क्लब में पियानो बजाता है और वहां उसकी मुलाकात होती है गुजरे समय के सुपरस्टार अभिनेता प्रमोद सिन्हा( अनिल धवन) से जो उसे अपने घर पर प्राइवेट कॉन्सर्ट के लिए आमंत्रित करते हैं.

यह भी पढ़ें- National Film Awards: आयुष्मान और विक्की कौशल ने जीता बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड

प्रमोद अपनी बीवी सिम्मी (तब्बू) को इंगेजमेंट का सरप्राइज देने के लिए आकाश को अपने घर बुलाते हैं. लेकिन जब आकाश, प्रमोद के घर पहुंचता है तब तक प्रमोद का मर्डर हो जाता है. फिर शुरू होता है कहानी में ट्विस्ट क्योंकि आकाश इस मर्डर का एक मात्र गवाह है जिसे हत्यारे के बारे में सबकुछ पता है.

यह भी पढ़ें- जॉन अब्राहम और अक्षय कुमार ने फैंस को दिया तोहफा, फोटो में दिखा Bromance

यह भी पढ़ें- लता मंगेशकर का गाना गाने वाली महिला को अब पहचानना है मुश्किल, हुआ जबरदस्त Makeover

इस फिल्म में आयुष्मान खुराना का जबरदस्त अभिनय देखने को मिलता है. फिल्म में तब्बू अलग ही फॉर्म में नजर आती हैं. राधिका आप्टे समेत मानव विज, जाकिर हुसैन और अश्विनी कलसेकर ने भी अपने-अपने किरदार को जिया है. अंधे हीरो की पोल खोलने वाला बच्चा, किडनी निकालने वाला और आखिरी मौके पर दया दिखाने वाला डॉक्टर. मौसी में छिपा गरीबी का लालच. इस फिल्म को डायरेक्ट करने वाले श्रीराम राघवन इससे पहले 'एक हसीना थी' (2004), 'जॉनी गद्दार (2007), 'एजेंट विनोद' (2012) और 'बदलापुर' जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके हैं. बता दें कि आयुष्मान की यह फिल्म 'अंधाधुन' चीन में यह 'प्यानो प्लेयर' के नाम से रिलीज हुई थी.

First Published : 09 Aug 2019, 07:10:18 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.