News Nation Logo

भड़काऊ बयान देने के मामले में मुंबई पुलिस ने कंगना रनौत और रंगोली को फिर भेजा समन

News Nation Bureau | Edited By : Akanksha Tiwari | Updated on: 03 Nov 2020, 01:52:32 PM
kangana ranaut

मुंबई पुलिस ने कंगना और रंगोली को भेजा समन (Photo Credit: फोटो- @team_kangana_ranaut Instagram)

नई दिल्ली:  

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और उनकी बहन रंगोली को मुंबई पुलिस ने एक बार फिर पूछताछ के लिए समन किया है. दोनों बहनों को सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान देने के मामले में दर्ज एफआईआर (FIR) को लेकर पूछताछ के लिए बुलाया गया है. मुंबई बांद्रा पुलिस ने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और रंगोली को 10 नवंबर को बुलाया है. बता दें कि इससे पहले जारी किए गए समन में कंगना ने घर मे विवाह होने की बात कहकर मुंबई आने में असमर्थता जताई थी.

यह भी पढ़ें: आमिर खान की बेटी इरा के साथ 14 साल की उम्र में हुआ था यौन शोषण, Video में सुनाई आपबीती

गौरतलब है कि मुंबई की एक अदालत ने सोशल मीडिया पर एक खास समुदाय के खिलाफ ‘घृणा’ फैलाने वाले और ‘अपमानजनक’ बयानों के लिए अदाकारा कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ बृहस्पतिवार को पुलिस से जांच शुरू करने को कहा था. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट भागवत टी जिरापे ने जांच का आदेश देते हुए कहा कि आरोपियों की भूमिका तय करने के लिए यह करना जरूरी हैं अदालत ने संबंधित थाने को 5 दिसंबर तक जांच रिपोर्ट भी पेश करने को कहा था.

यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंट अनुष्का शर्मा ने व्हाइट ड्रेस में फ्लॉन्ट किया बेबी बंप, देखें Viral Photo

शिकायत के मुताबिक रंगोली चंदेल (Rangoli Chandel) ने एक खास समुदाय को निशाना बनाते हुए अप्रैल में ट्विटर पर घृणा फैलाने वाली टिप्पणी की जिसके बाद माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने उनके अकाउंट को निलंबित कर दिया था. ‘क्वीन’ की अदाकारा कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने बाद में अपनी बहन के विवादित ट्वीट के समर्थन में एक वीडियो पोस्ट किया था. शिकायत में कहा गया कि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर जारी वीडियो में उन्होंने उस समुदाय के पंथ को आतंकवादी बताया. इस तरह दोनों आरोपियों ने एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने वाली और अपमानजनक टिप्पणी की.

First Published : 03 Nov 2020, 01:40:49 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.