logo-image
लोकसभा चुनाव

NEET Paper Leak: पेपर लीक कैसे होता है, कौन कराता है? बॉलीवुड की इन 2 फिल्मों ने खोली एजुकेशन सिस्टम की पोल

नीट और नेट की परीक्षा में धांधली को लेकर देशभर में बवाल जारी है. आज हम आपको बॉलीवुड की उन 2 फिल्मों के बारे में बताएंगे, जिसमें दिखाया गया था कि कैसे धांधली की जाती है और कैसे माफियाओं का पर्दाफाश किया गया.

Updated on: 20 Jun 2024, 05:04 PM

नई दिल्ली:

Why Cheat India, Setters Movie:  आज के समय में फिल्में बस मनोरंजन तक ही सिमीत नहीं रह गई हैं. फिल्मों के इतिहास में  कुछ ऐसी फिल्मी बनी जिसकी मायने खास है. रियल स्टोरी,  जवाल लाल नहेरू और अटल बिहारी बाजपेयी जैसे महान राजनीतिज्ञों पर फिल्में बनी. इसी के साथ अंडरवर्ल्ड के डॉनस गैंगवार पर भी कई फिल्में बनी हैं.  इन दिनों देश में पेपर लीक और पेपर रद्द  का मुद्दा चल रहा है. NEET परीक्षा पेपर लीक का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि यूजीसी नेट (UGC NET 2024)  की परीक्षा को कैंसल कर दिया गया है. लेकिन क्या आप जानते हैं सिनेमा में 5 साल पहले दो ऐसी फिल्में आई थी, जिसमें ये दिखाया गया था कि कैसे  NEET-NET के पेपर लीक हो जाते हैं. चलिए जानते हैं...

इमरान हाशमी की 'व्हाई चीट इंडिया' (Why Cheat India)

18 जनवरी 2019 को रिलीज हुई 'व्हाई चीट इंडिया' में एक्टर  इमरान हाशमी (Emraan Hashmi) ने माफिया  'रंजीत डॉन' का किरदार निभाया था. इस फिल्म में भारतीय एजुकेशन सिस्टम से जुड़ी परेशानियों और परीक्षा के दौरान होने वाले वाली चीटिंग को दर्शाया गया है, जिसे चीटिंग माफिया अंजाम देते हैं.  फिल्म में अकादमिक परीक्षाओं में धांधली से लेकर जाली प्रमाणपत्र बनाने तक, समस्याओं से भरी शिक्षा प्रणाली की विफलताओं का पर्दाफाश होने की कहानी है. फिल्म में कैसे राकेश सिंह उर्फ रॉकी चीटिंग माफिया बन जाता है, वह एजुकेशन सिस्टम की खामियों का फायदा उठाता है. गरीब मेधावी छात्रों की बुद्धि और योग्यता का इस्तेमाल करके वह अमीर बच्चों को एक्जाम में पास करवाता है पैसे वसूलता है.

श्रेयस तलपड़े  की 'सेटर्स' (Setters)

3 मई 2019 को रिलीज हुई आफताब शिवदासानी (Aftab Shivdasani) और श्रेयस तलपड़े (Shreyas Talpade) की 'सेटर्स'  एक थ्रिलर फिल्म है. जिसमें बनारस, जयपुर, मुंबई और दिल्ली पर आधारित सेटर्स अकादमिक घोटालों से मुनाफा कमाने वाले एक रैकेट के बारे में खुलासा किया गया है.  इस फिल्में में दिखाया गया है कि कैसे टेक्नॉलीजी और सेटिंग की मदद से एग्जाम पास कराया जाता है.   फिल्म दो अच्छे दोस्तों केपर आधारित है, एक पुलिस वाला तो दूसरा सेटर होता है, जो कमजोर छात्रों के स्थान पर प्रतिभाशाली छात्रों को परीक्षा में बैठाता है. श्रेयस तलपड़े  इस फिल्मे में  सेटर की भूमिका निभाई है. 

ये भी पढ़ें- Mirzapur 3 Trailer Out: कुर्सी के लिए 'गुड्डू पंडित' ने अपनाया खूंखार अवतार, 'कालीन भैया' ने चंद सेकंड में मचाया भौकाल