News Nation Logo

इस वजह से फेल हुई Laal Singh Chadha, बॉयकॉट नहीं है कारण!

News Nation Bureau | Edited By : Pallavi Tripathi | Updated on: 05 Sep 2022, 05:57:59 PM
aamir khan laal singh chaddha

प्रकाश झा ने दिया ऐसा बयान (Photo Credit: Social Media)

नई दिल्ली:  

बॉलीवुड के जाने-माने डायरेक्टर प्रकाश झा (Prakash Jha) अपनी फिल्मों की वजह से अक्सर सुर्खियां बटोरते हैं. लेकिन फिलहाल वो अपनी फिल्म की वजह से नहीं, बल्कि किसी और की फिल्म पर दिए गए अपने कमेंट के चलते चर्चा में आ गए हैं. आपको बता दें कि ये फिल्म किसी और की नहीं, बल्कि बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान (Aamir khan laal singh chaddha) की हालिया रिलीज फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' (Prakash Jha on Laal Singh Chadha) है. जिसको लेकर प्रकाश झा का कहना है कि बॉयकॉट के चलते ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फेल (Prakash Jha on LSC failure) नहीं हुई है. साथ ही उन्होंने इसके पीछे का कारण भी बताया है. जिस बारे में हम आपको बताने वाले हैं. 

निर्देशक (Prakash Jha latest statement) ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा, 'कहा जा रहा है कि सोशल मीडिया पर आमिर खान की फिल्म का बॉयकॉट किया गया. अगर उन्होंने दंगल (2016) या लगान (2001) बनाई और फिर फिल्म अच्छी नहीं चली होती, तो हम समझ लेते कि बॉयकॉट की वजह से ऐसा हुआ. झा ने आगे कहा कि लाल सिंह चड्ढा की कहानी में कोई एक्स-फैक्टर नहीं है और यही वजह है कि दर्शक इसे पसंद नहीं कर सके. उन्होंने कहा, 'आपने ऐसी फिल्म बनाई है कि जिन लोगों ने इसे देखा, उनमें से ज्यादातर इसकी सराहना नहीं कर रहे हैं. मुझे अभी तक कोई ऐसा इंसान नहीं मिला है, जिसने कहा हो, 'वाह, क्या फिल्म थी'.' 

हालांकि, उन्होंने (Prakash Jha on LSC boycott) आगे ये भी कहा, "मैं मानता हूं कि आपने काम किया है और कड़ी मेहनत की है. लेकिन जब आपके कंटेंट में ऐसा कोई फैक्टर नहीं है, तो आप यह नहीं कह सकते कि बॉयकॉट के कारण इसने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया." प्रकाश झा के बयान से साफ पता चल रहा है कि फिल्म में कमियां थी, जिसके चलते बॉक्स ऑफिस पर उसका ये हाल हुआ. आपको बताते चलें कि इस फिल्म के कम कलेक्शन के साथ-साथ इसे आईएमडीबी पर भी काफी कम रेटिंग मिली है. 

First Published : 05 Sep 2022, 05:57:59 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.