logo-image
लोकसभा चुनाव

मौत के वक्त 2 महीने की प्रेगनेंट थी Amitabh की हीरोइन, भयानक था हादसा

फिल्म 'सूर्यवंशम' रिलीज के वक्त भले ही फ्लॉप हो गई थी, लेकिन आज सबसे चर्चित फिल्मों में से एक है। आपको बता दें फिल्म रिलीज के 5 साल बाद सौंदर्या की मौत हो गई। जब उनकी मौत हुई, तब वे प्रेग्नेंट थीं। लेकिन घरवालों को उनकी डेड बॉडी भी नहीं मिली।मौत से क

Updated on: 29 Apr 2021, 03:51 PM

New Delhi:

'सूर्यवंशम' एक ऐसी हिंदी सिनेमा फिल्म जिसकी कहानी बच्चे-बच्चे की जुबान पर रटी रहती है. और हो भी क्यों ना आखिर ये फिल्म किसी ना किसी टीवी चैनल रोज ही टेलिकास्ट की जाती है. आपको बता दें 'सूर्यवंशम' में लीड एक्ट्रेस सौंदर्या रघु थी जो की साउथ फिल्म इंडस्ट्री की जानी मानी हस्ती थीं. फिल्म 'सूर्यवंशम' रिलीज के वक्त भले ही फ्लॉप हो गई थी, लेकिन आज सबसे चर्चित फिल्मों में से एक है। आपको बता दें फिल्म रिलीज के 5 साल बाद सौंदर्या की मौत हो गई। जब उनकी मौत हुई, तब वे प्रेग्नेंट थीं। लेकिन घरवालों को उनकी डेड बॉडी भी नहीं मिली।मौत से करीब एक साल पहले ही 2003 में सौंदर्या ने सॉफ्टवेयर इंजीनियर जीएस. रघु से शादी की थी।

चलिए आपको बताते हैं की आखिर ये दर्दनाक हादसा कब और कैसे हुआ था. दरअसल, 17 अप्रैल, 2004 को सौंदर्या भारतीय जनता पार्टी और तेलुगु देशम पार्टी के उम्मीदवार के चुनाव प्रचार के लिए करीमनगर जा रही थीं। सुबह 11.05 बजे उनके प्राइवेट एयरक्राफ्ट ने बेंगलुरु के जक्कुर एयरफील्ड से उड़ान भरी और करीब 100 फीट ऊपर जाते ही क्रैश हो गया। एयरक्राफ्ट में सौंदर्या के अलावा, उनके भाई अमरनाथ, हिंदू जागरण समिति के सेक्रेटरी रमेश कदम और पायलट जॉय फिलिप मौजूद थे। चारों की मौत इस क्रैश में हुई।

पूरे करियर में सौंदर्या ने हिंदी में सिर्फ एक फिल्म 'सूर्यवंशम' की थी। 1998 में जब एक इंटरव्यू में सौंदर्या ने कहा था- फिल्में मेरे दिमाग में आखिरी चीज थीं। मेरे पापा फिल्ममेकर थे और मैं उनके साथ अक्सर सेट्स पर जाया करती थी। मैं एमबीए कम्प्लीट कर बिजनेस लाइन में जाना चाहती थी। लेकिन जब पापा के दोस्त ने मुझे इंटरेस्टिंग रोल के लिए अप्रोच किया तो मैंने एक्टिंग में आने का फैसला किया।

सौंदर्या ने कहा था कि जब वे फिल्मों में एंटर हुईं तो प्रोड्यूसर्स के सामने उनकी पहली कंडीशन थी कि वे एक्सपोज नहीं करेंगी। 1992 में कन्नड़ फिल्म 'गंधर्व' से सौंदर्या ने बड़े पर्दे पर डेब्यू किया।इसी साल उन्होंने तेलुगु भाषा की फिल्म 'Raithu Bharatham' भी की। 12 साल के फिल्मी करियर में सौंदर्या ने 114 फिल्मों में काम किया था। मौत के बाद अगस्त 2004 में उनकी आखिरी फिल्म 'Apthamitra' रिलीज हुई थी, जो कन्नड़ में बनी थी।