News Nation Logo
Banner

PM Modi with Akshay Kumar : RSS की शाखाओं में होते हैं वैज्ञानिक खेल, जिंदगी में ग्रुप वाले खेल खेलें : PM

फिल्‍म अभिनेता अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्‍यू लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 24 Apr 2019, 10:20:00 AM
अक्षय कुमार ने लिया पीएम नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू (फाइल फोटो)

अक्षय कुमार ने लिया पीएम नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

फिल्‍म अभिनेता अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्‍यू लिया है. उन्‍होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो जारी किया है. अक्षय कुमार के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इंटरव्यू के टीजर पोस्‍ट करते हुए अक्षय ने कहा है कि वह इंटरव्यू का पूरा वीडियो आज सुबह 9 बजे जारी करेंगे. टीजर अक्षय ने मोदी और उनकी मां के बारे में बात की है. अक्षय का दावा है कि इस इंटरव्यू में पीएम के बारे में कुछ अनजाने तथ्यों को जानने की कोशिश की गई है. पल-पल के अपडेट जानने के लिए www.newsnationtv.com देखते रहें...

PM Narendra Modi interview With Akshay Kumar Live Updates Read and Watch Here

पीएम ने कहा, लेकिन आज तो पता ही नहीं है. आज चुनावी आपाधापी के बीच ये बातचीत काफी अच्छा लगा. 

पीएम ने कहा, मैं चाय बेचता था तो मेरे गांव में मालगाड़ी आती थी. मुबंई से भैंसे ले आने और जाने का बड़ा कारोबार होता. मैं उन लोगों को चाय देता था उन लोगों से बातचीत करता था. इससे मुझे नार्थ कल्चर आता था. अक्षय ने पूछा, हिन्दी गाना आप गुनगुनाते हैं. 

पीएम ने कहा, मैं उस समय खुद से मिलता था, लेकिन अब ये नहीं कर पाता हूं. अक्षय ने पूछा, आप चाय बेचते थे. पीएम ने कहा, जब मैं चाय बेचता था तो बहुत कुछ सिखने को मिलता था. लोग मुझे डांट देते थे. उस समय जब मैं हिन्दी में बात करता था तो लोगों को सरपाइज लगता था. 

पीएम ने कहा, मुझे चाय की आदत नहीं है. इस चाय का मजा तब आता है जब मैं खुले आसमान में बैठा हो. ये काम मैं आफिस में कर लेता हूं. मैं दिवाली में 4-5 दिन कहीं चला जाता था. पानी भी ले जाता था. कहीं जंगल में जहां कोई इंसान न हो वहां जाकर मैं रहता था. मैं उस समय अपने साथ कुछ नहीं रखता था.  

अक्षय ने कहा, आपने रियल लाइफ में ये काम किया. पीएम ने कहा, खुद को फिट बनाईये तो सब ठीक सहेगा. देशवासियों ने मेरे स्वच्छता अभियान को अपनाया और 9 करोड़ रुपये शौचालय बन गया. 

पीएम ने कहा, थियेटर में दर्शक कम होते थे तो मुझे वहां जाने का मौका मिल जाता था. अक्षय ने कहा, मैंने एक फिल्म बनाई थी टॉयलेट एक प्रेम कथा. पीएम ने कहा, मैंने देखा तो नहीं था, लेकिन मैंने सबको कहा था देखने के लिए. 

पीएम ने कहा, पहला भाषण हमने पढ़कर बोला था, लेकिन मैं बिना पढ़े बोलना चाहता था.  

पीएम ने कहा, मैं घर के सभी लोगों को कपड़ा धोता था. मेरा बॉडी डेवलपमेंट गांव के तालाब में स्विमिंग से हुआ है. पीएम ने कहा, यूएन में पहला स्पीच था. सुषमा ने पूछा, कर लेंगे तो मैंने कहा, कर लूंगा. मैंने किसी से कुछ नहीं लिखवाया था. पीएम ने कहा, मुझे पढ़कर बोलने में काफी दिक्कत होती है.   

पीएम ने कहा,संघ की शाखाओं में अच्छे वैज्ञानिक खेल होते हैं. इसलिए बचपन में संघ के खेलों से जिम्मेदारी सिखने को मिला. मैं ग्रुप का खेल काफी पंसद करता हूं. जिंदगी जीने के लिए ग्रुप वाले खेल खेलने चाहिए. इससे लीडरशिप आती है. मैं तैरता था. 

अक्षय ने कहा, आपसे बात करना मुझे बहुत अच्छा लगता है. आप लवली पर्सन हैं, जिसमें सब कुछ पाया और खोया भी है. क्या आप अपनी सैलेरी से कुछ माता जी को देती हैं. पीएम ने कहा, आज भी मेरी माता जी मुझे खुद देती हैं वह आज भी सवा रुपये देती हैं. आज भी मैं सरकार से कुछ नहीं लेता हूं. मेरा ऊपर कुछ खर्चा नहीं हैं. मैंने देश को अपना परिवार मान लिया हूं.

पीएम ने कहा, मैं बिन्स में मोदी को कम देखता हूं और क्रिटिविटी को ज्यादा देखता हूं. सोशल मीडिया से मुझे साधारण व्यक्ति के बारे में पता चलता है. पीएम ने कहा, खुद को संतुलित रखेंगे तो उनके सारे इरादे फेल हो जाते हैं. 

पीएम ने कहा, मैं ट्विंकल खन्ना के नाना से भी मिला था, जब देश में अकाल पड़ा था तो तब उनके नाना आए थे. तब उनके साथ काफी बातचीत हुई थी.  

पीएम ने कहा, किसी को ये पता न चले कि मैं घड़ी देख रहा हूं, इसलिए मैं उल्टी घड़ी पहनता हूं. अक्षय ने पूछा, सोशल मीडिया में आप काफी सक्रिय रहते हैं. पीएम ने कहा, हां, मैं खुद ट्वीटर देखता हूं. मैं आपका और ट्विंकल खन्ना का भी ट्वीटर हैंडल देखता हैं. 

अक्षय ने मोदी से कपड़े के बारे में पूछा कि ये फैशन आपने खुद किया है या नहीं. पीएम ने कहा, मेरी छवि मेरे कपड़े को लेकर बनाया गया है. सीएम बनने तक मैं कपड़े खुद धोता था. लोटा में कोयला भरकर कपड़ा प्रेस करता था. मामा आए तो उन्होंने कैनवास जूता दिया. गंदे होने पर क्लास में रुकता था. मैं क्लास के चौक के टुकड़े को लाता था और उसे जूते में लगा देता था.

पीएम ने कहा, मैं पैदल ही कैलाश पर्वत चढ़ा हूं. मुझे थकान नहीं हुई. जुगाम में सिर्फ गर्म पानी लेता हूं. सरसों के तेल को उपयोग करता हूं. अक्षय ने पूछा, 7 बजे ब्रेकफास्ट, 12 बजे लंच और 9 बजे डिनर कर लेता हूं. पीएम ने कहा, हमारा किसान आज भी सूर्यास्त से पहले ही खाना खा लेता है. ये अच्छा है.

पीएम ने कहा, असम के गमछे को पैर में बांध देता था और बीच में एक लकड़ी लगा लेता था. मैं ऐसे ही ठीक हो जाता था. 

पीएम ने कहा, आंख खुलते ही मेरा पैर जमीन में होता है. 18-20 कार्यकाल में ये मेरी जिंदगी का हिस्सा बन गया हूं. रिटायर्ड के बाद अपनी नींद बढ़ाऊंग. अक्षय ने कहा, पीएम जुगाम लगता है तो क्या लेते हैं. पीएम ने कहा, मैं बहुत कठिन जिंदगी जी कर आया हैं. 

पीएम ने कहा, पीएम बनते समय मुझे जो फायदा मिला, बाकि किसी पीएम को नहीं मिला होगा. मैं सीएम के दौरान बारीकियों से जुझना पड़ा. अक्षय ने पूछा, आप 3 या 4 घंटे ही सोते हैं. पीएम ने कहा, जितने मेरे साथी हैं उन सबका मेरे एक ही आग्रह रहता है कि मेरी नींद पूरी हो जाए. ओबाना ने पूछा था कि ये तुम क्यों करते हों. वह भी पूछते हैं कि आपने अपनी नींद बढ़ाई कि नहीं.  

अक्षय ने पूछा, आप रिटायर्ड के बाद क्या करेंगे. पीएम ने कहा, अटलजी, आडवाणी जी सब कुछ ने कुछ न कुछ बताया. पीएम ने कहा, मुझे कुछ नहीं आता है, जिम्मेवारी ही मेरी जिम्मेदारी है. इसलिए आजतक मैंने इसके लिए कुछ नहीं सोचा हूं. लेकिन मेरी जिंदगी किसी न किसी मिशन में बिताऊंगा.   

पीएम ने कहा, एक व्यक्ति ने पूछा कि क्या आप समाजवादी हैं तो मैंने कहा तो अहमदाबादी हैं. अक्षय ने पूछा, अगर आपको अल्लादिन का चिराग मिल जाए तो आप क्या मांगेंगे. पीएम ने कहा, समाजशास्त्री के दिमागों को भर दो तो कोई अल्लादिन चिराग नहीं होता है. अक्षय ने कहा, बैठे-बैठे कुछ नहीं मिलता है. 

अक्षय ने कहा, मेरा बेटा कहां है, मेरी बीबी कहां तो मेरे दुकान पर कौन है. गुजराती पैसे से कभी दूर नहीं रहते हैं वह पैसे को संभाल कर रखते हैं. पीएम ने कहा, पैसेंजर ने ट्रेन से पूछा कि कौन सा स्टेशन आया तो उसने कहा चारआना दोगे तो बताऊंगा. पैसेंजर ने कहा, अहमदाबाद आया होगा.

पीएम ने कहा, बैंकवाले मेरे पास आए और साइन मांगा कि इस खाता को बंद करना है. सांसद बनने के बाद इस खाता में मेरी सैलेरी आने लगी और फिर से चपरासी के बच्चों में दान कर दिया. बल्कि बैंक वाले इसके लिए मना कर रहे थे तो मैं इसका क्या करूंगा. तब मैंने उससे 21 लाख रुपये दान कर दिया. सरकार की तरफ जो प्लाट मिला तो मैं उसे पार्टी को देना चाहता था, लेकिन ये मामला तो सुप्रीम कोर्ट में अटका पड़ा है. लेकिन जब कोर्ट से क्लियर हो जाएगा तो उसे भी पार्टी को दे दूंगा.

अक्षय ने कहा, जब आप पीएम बने थे तो आपने अपना एफडी 21 लाख बांट दिया. आज आपका बैंक बैलेंट कितना हैं. पीएम ने कहा, उससे पहले मेरा कोई बैंक एकाउंट नहीं था. स्कूल के समय देना बैंक मेरा घर के पास था और उसमें मैंने खाता खुलवाया था, लेकिन मैंने कुछ नहीं जमा नहीं कर पाया.  

पीएम ने कहा, मैं दोस्तों को चुटकले सुनाता रहता हूं. राजनीति में कई अच्छे दोस्त हैं और साथ में खाना खाता हूं. एक बार मैं और गुलाब नवी आजाद गप्पे मार रहे थे तो मीडिया ने पूछा कि आजाद आप भी आरएसएस के हो गए हैं. ममता दीदी भी मेरे लिए साल में एक दो कुरते देती हैं. आज भी वह कोई न कोई बंगाली मिठाई मेरे लिए भेज देती हैं. 

पीएम ने कहा, अगर कोई मोबाइल पर बिजी रहता तो मैं उससे ही पूछ लेता था कि आगे का क्या काम है. जहां ह्यूमर का सवाल है तो मैं परिवार के माहौल को थोड़ी देर में खुशमय कर देता है. अब आधाअधूरा शब्दों को लेकर उछाल दिया था. अब डर लगता है. सोशल मीडिया मतलब टीआरपी है.

अक्षय कुमार ने कहा, जब आप सीएम थे तो मैं आपसे मिला था. आपका ह्यूमर पीएम बनने के बाद काफी स्ट्रीक है. ऐसा लगता है कि आपके हाथ में छड़ी हो. पीएम ने कहा, मैं काम को लेकर किसी पर दबाव नहीं डालता हूं. अधिकारी मुझे देखकर काम करते हैं. ये एक प्रकार वर्क कल्चर डेवलप हो जाता है. मैं किसी पर अनुशासन नहीं थोपता हूं. मैं काम के समय काम करता हूं और इधर उधर की बात नहीं करता हूं.

पीएम ने कहा, मैं लोगों से सीखता भी हूं और सिखाता भी हूं. अक्षय ने पूछा, मतलब आपको को गुस्सा नहीं आता है. अगर मुझे गुस्सा आता है तो मैं खूब बॉक्सिग कर लेता हूं. पीएम ने कहा, मैं अपनी टीम बनाकर चलता हूं. अगर Ego बीच में आता था तो मैं उसे भी दूर कर देता हूं. 

पीएम ने कहा, मैं बनना कुछ चाहता था और बन गया कुछ. मुझे गुस्सा नहीं आता है. ये मनुष्य के स्वभाव के हिस्से हैं. आपको अच्छी चीजों पर बल देना चाहिए. आज तक मैंने चपरासी से लेकर प्रिंसिपल तक किसी पर गुस्सा नहीं किया. मैं स्ट्रीक नहीं हूं.

पीएम ने कहा, मैं जब सीएम बना तो स्वामी के घर चला गया था. फिर रामकिशन मिशन से जुड़ गया. ये नया अनुभव होने लगा. 18-20 की आयु से करता था. मन में खुद सवाल करता था और जवाब भी खुद ढूंढता था. फिर मैं पीएम बन गया.

अक्षय ने पूछा, आप संन्यासी बनना चहाते थे. इस पर पीएम ने कहा, बचपन मैं किताबें पढ़ता था. 1961 का वार हो गया था. वहां स्टेशन पर फौजी जाते थे तो मैं भी चला जाता था. तो सोचा कि ये लोग देश की सेवा कर रहे हैं. सैनिक स्कूल से किताबें मंगाता था. 

पीएम ने कहा, लेकिन अब मुझे कंट्रोल करना पड़ता है. अक्षय ने पूछा, क्या आपके कभी सोचा था कि आप पीएम बनेंगे. इस पर पीएम ने कहा, मेरा जो फैमिली बैकगाउंड है कि अगर मुझे कहीं नौकरी मिल जाती तो मेरी मां सबसे गुड़ खिला देती. मैं कभी ऐसा नहीं सोचा था, लेकिन रास्ता बनता चला गया और मैं आगे बढ़ गया. 

अक्षय कुमार ने पीएम मोदी से कहा, मैं आपसे हल्की फुलकी बातचीत करूंगा. अक्षय कुमार ने कहा, मेरा ड्राइवर पूछना चाहता है कि क्या पीएम आम खाते हैं. मोदी ने कहा, हां मैं आम खाता हूं. हमारा देश का किसान काफी उद्वार है. पेड़ में पक्का आम खाना मुझे ज्यादा पसंद हैं. मैं बिना धोये ही आम खा लेता था.

पीएम नरेंद्र मोदी की अक्षय कुमार से गैर राजनीतिक बातचीत शुरू हो गई है. 

अब कभी भी पीएम नरेंद्र मोदी और अक्षय कुमार की बातचीत शुरू हो सकती है. बता दें कि इस दौरान बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लिया है. इसकी जानकारी अक्षय कुमार ने कल रात को ही अपने ट्वीटर हैंडल में दी थी.   

दिल्ली स्थित 7 लोक कल्याण मार्ग पर पीएम नरेंद्र मोदी और अक्षय कुमार की बातचीत शीघ्र ही जारी होने वाली है. इस दौरान अक्षय कुमार पीएम नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लेते हुए दिखेंगे.



First Published : 24 Apr 2019, 07:26:33 AM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो