logo-image
लोकसभा चुनाव

Heeramandi: शर्मिन सहगल को ट्रोल करने पर भड़कीं अदिति राव हैदरी,  ट्रोलर्स को दीं करारा जवाब

हीरामंडी में बिब्बोजान का किरदार निभाने वाली अदिति राव हैदरी ने संजय लीला भंसाली के दृष्टिकोण का बचाव किया है. शो को एक्यूअल करेक्शन के लिए ट्रोल किया जा रहा है.

Updated on: 12 May 2024, 07:52 PM

नई दिल्ली:

अदिति राव हैदरी इन दिनों अपनी ओटीटी सीरीज हीरामंडी की सफलता का आनंद ले रही हैं, जिसके चलते उन्हें कई जगहों पर सीरीज के बारे में बात करते हुए देखा जा सकता है. हाल ही  में अदिति राव हैदरी को हीरामंडी में उनके प्रदर्शन के लिए सराहना मिल रही है, बावजूद इसके सीरीज को मिश्र रिव्यू मिल रही है. एपिक सीरीज में बिबोजान के एक्टर के चित्रण की कई लोगों ने सराहना की है. पूजा तलवार के साथ हाल ही में एक इंटरव्यू में, अदिति ने अपने शो और को-एक्टर शर्मिन सहगल के खिलाफ क्रिटिसिज्म के बारे में बताया.

अदिति राव हैदरी ने ट्रोलिंग की निंदा की

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगता है कि अपनी को-एक्टर शर्मिन सहगल को ट्रोल किए जाने के बीच किसी को भी चुनना अनुचित है, अदिति ने कहा, “100%. किसी को भी चुनना भयानक है. मैं जानता हूं कि कुछ लोगों को कोई चीज पसंद आती है और कुछ लोगों को नहीं. इसे कहने का एक तरीका है. यह बहुत मतलबी हो सकता है. यह बहुत घटिया हो गया है और मुझे लगता है कि यह उचित नहीं है और ऐसा नहीं होना चाहिए. 

अदिति राव हैदरी ने ट्रोलिंग की निंदा की

उन्होंने आगे कहा, “मुझे यह भी लगता है कि लोग वही करते हैं जो उन्हें लगता है कि उनके लिए महत्वपूर्ण है. अगर कुछ लोग मतलबी होना चाहते हैं तो यह उनका विशेषाधिकार है. हमें इसके आसपास कोई रास्ता खोजना होगा अन्यथा यह वास्तव में कठिन हो जाएगा. जो कोई भी इसका सामना कर रहा है, मैं बस यही कहूंगी. 

हीरामंडी के लिए ट्रोल हुईं शर्मिन सहगल

बता दें, संजय की भतीजी शर्मिन शो में आलमजेब की भूमिका निभाती हैं. उनके प्रदर्शन के लिए उन्हें काफी क्रिटिसिज्म झेलनी पड़ी और उन्होंने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर अपना टिप्पणी अनुभाग बंद कर दिया. पिंकविला के साथ एक इंटरव्यू में शर्मिन की को-एक्टर श्रुति शर्मा ने उनका समर्थन किया और कहा कि 'ट्रोलिंग अस्वीकार्य है'.

हीरामंडी के बारे में

हीरामंडी में अदिति ने मल्लिकाजान यानी मनीषा कोइराला की बड़ी बेटी का किरदार निभाया है. यह शो 1920-40 के दशक के दौरान विभाजन-पूर्व भारत में लाहौर (अब वर्तमान पाकिस्तान में) के रेड-लाइट जिले हीरा मंडी में वेश्याओं की कहानी को चित्रित करता है. महाकाव्य-नाटक औपनिवेशिक शासन के दौरान दरबारियों, नवाबों और ब्रिटिश अधिकारियों के बीच सत्ता संघर्ष को दर्शाता है. हीरामंडी नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध है.