News Nation Logo
Banner

'वोट फॉर महापरिवर्तन' के नाम से सपा का घोषणा पत्र जारी, अखिलेश यादव ने सरकार पर साधा निशाना

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. दिग्गज नेता एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 05 Apr 2019, 04:44:59 PM
सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. दिग्गज नेता एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. इसी क्रम में शुक्रवार को सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. इससे पहले अखिलेश यादव ने सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन के विजन के बारे में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए गठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए 'वोट फॉर महापरिवर्तन' नाम से घोषणापत्र जारी किया है. बुकलेट जारी की. 'सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन, एक नई दिशा-एक नई उम्मीद' की सोच के साथ बुकलेट जारी की है.

सपा के घोषणा पत्र के तौर गठबंधन का विजन डॉक्यूमेंट जारी किया गया है. यूपी में रोजगार कैसे बढ़े, इंफ्रास्ट्रक्चर कैसे मजबूत हो, महिला सुरक्षा में सुधार कैसे हो, किसानों की पूर्ण कर्जमाफी और फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य कैसे बढ़े, इन सब मुद्दों पर इस बुकलेट में बात कही गई है. इसके बाद पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा, जीएसटी से व्यापारियों को नुकसान हो रहा है. नोटबंदी में लोगों की जान चली गई. केंद्र सरकार किसान और बेरोजगारी पर आंकड़े छिपा रही है. सही आंकड़े सामने नहीं आ रहे हैं.

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा, गरीबी के खिलाफ लड़ाई एक धोखा है. जनता के बीच सच्चाई जानी चाहिए, सभी सामाजिक आंकड़े जनता के बीच जाने चाहिए. GST पर सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया है. शिक्षा कैसी हो इस पर दोबारा सोचना पड़ेगा, क्योंकि देश में क्वालिटी एजुकेशन नहीं है. इसके बाद मुस्लिम लीग को वायरस बताने के सीएम योगी के ट्वीट पर उन्होंने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री अच्छे मुख्यमंत्री है, हमें मालूम है कि ये ट्वीट उन्होंने नहीं किया है किसी और से कराया है. कहीं ऐसा तो नही कि मुख्यमंत्री के पास ही कोई वायरस हो शायद उससे ये ट्वीट लिखवाया होगा.

दिनेश लाल यादव निरहुआ के द्वारा अखिलेश यादव को बड़ा भाई बताने पर कहा कि आज़मगढ़ से समाजवादियों का एक अलग लगाव है. वहां सामाजवादी विचारधारा वाली जनता है और वो बीजेपी के बहकावे में नहीं आएगी. बीजेपी वाले ही चाहते हैं कि पीएम से ज्यादा वोटों से मैं आज़मगढ़ से जीत कर आऊंगा.

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने नमो टीवी पर कटाक्ष करते हुए कहा, अब हमें भी रास्ता दिखा दिया गया है. अगली बार चुनाव में हमारा भी ऐसे ही साइकिल चैनल होगा. उन्होंने मायावती की पीएम पद की उम्मीदवारी को लेकर कहा कि यूपी ने कई प्रधानमंत्री दिए हैं. अगर यूपी से इस बार भी कोई पीएम बनेगा तो मुझे बड़ी खुशी होगी. 

First Published : 05 Apr 2019, 01:46:37 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो