News Nation Logo
Banner

दूसरा चरण छत्‍तीसगढ़ः कांग्रेस और बीजेपी के नए चेहरे क्‍या जीत पाएंगे वोटरों का दिल

पहले चरण के चुनाव के बाद अब दूसरे चरण की बारी है. अब 18 अप्रैल को छत्‍तीसगढ़ की 3 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 18 Apr 2019, 10:41:32 AM
प्रतिकात्‍मक चित्र

प्रतिकात्‍मक चित्र

नई दिल्‍ली:

पहले चरण के चुनाव के बाद अब दूसरे चरण की बारी है. अब 18 अप्रैल को छत्‍तीसगढ़ की 3 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं.. वहीं अगर देशभर की बात करें तो दूसरे चरण में 13 राज्यों की 95 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. इसमें असम-पांच, बिहार-पांच, छत्तीसगढ़-तीन, जम्मू कश्मीर-दो, कर्नाटक-14, महाराष्ट्र-10, मणिपुर-एक, ओडिशा-पांच, तमिलनाडु-39, उत्तर प्रदेश-8, पश्चिम बंगाल-तीन और पुदुच्चेरी-एक सीट पर मतदान होगा. देखें उप्र के किस सीट पर किसके बीच है मुकाबला...

लोकसभा BJP INC BSP
राजनंदगांव संतोष पांडेय भोलाराम साहू रविता लाकड़ा
महासमुंद चुन्‍नीलाल साहू धनेंद्र साहू धनसिंह कैशरिया
कांकेर मोहन मांडवी बृजेश ठाकुर सूबे सिंह ध्रुव

राजनांदगांवः बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव लोकसभा सीट पर दूसरे चरण में 18 अप्रैल को वोटिंग होगी. यहां से कुल 42 नामांकन पत्र दाखिल किए गए थे, लेकिन अब चुनाव मैदान में सिर्फ 14 प्रत्याशी बचे हैं. अब 18 अप्रैल को इन प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम मशीन में कैद हो जाएगी. इसके बाद 23 मई को मतगणना होगी.

यह भी पढ़ेंः रोचक तथ्‍यः पहले चुनाव में हर वोट पर खर्च हुआ था 87 पैसा, 2014 में बढ़ गया 800 गुना

राजनांदगांव सीट पर कांग्रेस से भोला राम साहू, बहुजन समाज पार्टी से रविता लकरा (ध्रुव), भारतीय जनता पार्टी से संतोष पांडे, शिवसेना से अजय पाली उर्फ बाबा, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया से डॉ. गोजुपाल, रिपब्लिकन पक्ष (खोरिपा) से प्रतिमा संतोष वासनिक, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से विश्वनाथ सिंह पोर्ते, अंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया से बैद्य शेखू राम वर्मा फॉर्वर्ड डेमोक्रेटिक लेबर पार्टी से महेंद्र कुमार साहू चुनाव मैदान में हैं.

यह भी पढ़ेंः बालाकोट स्ट्राइक ने पीएम नरेंद्र मोदी के लिए निगेटिव सेंटीमेंट्स कम किए, ममतादी दावेदारों में कहीं पीछे

इसके अलावा कामिनी साहू, क्रांति गुप्ता, राम खिलावन दहारिया, सच्चिदानंद कौशिक और सुदेश तिकम निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के अभिषेक सिंह ने जीत दर्ज की थी. उनको इस चुनाव में 6 लाख 43 हजार 473 यानी 54.61 फीसदी वोट मिले थे.

कांग्रेस प्रत्याशी कमलेश्वर वर्मा 4 लाख 7 हजार 562 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर रहे हैं. पिछले चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को 34.59 फीसदी वोट मिले थे. साल 2009 के लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी ने यहां से जीत दर्ज की थी.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस ने जारी की 7 उम्मीदवारों की लिस्ट, गुना से लड़ेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया, मनीष तिवारी यहां से ठोकेंगे ताल

इस बार बीजेपी ने छत्तीसगढ़ में सभी मौजूदा सांसदों के टिकट काट दिए हैं और नए चेहरे उतारे हैं. इस सीट से पूर्व सीएम रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह का टिकट काटकर उनकी जगह संतोष पांडे को मौका दिया गया है. यहां पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर देखने को मिल सकती है.

महासमुंदः साहू बनाम साहू

छत्तीसगढ़ की महासमुंद लोकसभा सीट पर कुल 13 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. भारतीय जनता पार्टी से चुन्नी लाल साहू, कांग्रेस से धनेंद्र साहू, BSP से धनसिंह कोशारिया, अंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया से अशोक सोनी, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिस्ट लेनिनिस्ट) रेड स्टार से कॉमरेड भोजलाल नेतम, राष्ट्रीय जनसभा पार्टी से रोहित कुमार कोसरे और भारतीय शक्ति चेतना पार्टी से डॉ विरेंद्र चौधरी चुनाव मैदान में हैं. इसके अलावा बतौर निर्दलीय चम्पालाल पटेट गुरुजी, जगमोहन भागवत कोसारिया, खिलावन सिंह ध्रुव, तरुण कुमार ददसेना, देवेंद्र सिंह ठाकुर और संतोष बंजारे चुनाव मैदान में हैं.

यह भी पढ़ेंः बाबा साहब से प्रेरणा लेकर सर्वसमाज के हित में काम करने वाला मूवमेंट है BSP'

पिछली बार यहां से भारतीय जनता पार्टी के चंदू लाल साहू ने जीत दर्ज की थी. उन्होंने कांग्रेस के अजीत जोगी को कड़े मुकाबले में हराया था. इस चुनाव में चंदू लाल साहू को पांच लाख तीन हजार 514 यानी 44.51 फीसदी वोट मिले थे, जबकि अजीत जोगी को 5 लाख दो हजार 297 यानी 44.4 फीसदी वोट मिले थे.

कांकेरः कांग्रेस और बीजेपी के वोटरों बीएसपी लगा सकती है सेंध

कांकेर लोकसभा सीट से कुल 9 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. चुनाव आयोग के मुताबिक कांकेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस से बिरेश ठाकुर, भारतीय जनता पार्टी के टिकट से मोहन मंडावी, बहुजन समाज पार्टी से सूबे सिंह ध्रुव, शिवसेना से उमाशंकर भंडारी, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से घनश्याम जूरी, अंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया से दुर्गा प्रसाद ठाकुर और भारतीय शक्ति चेतना पार्टी से मथन सिंह मरकम चुनाव लड़ रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र : देवेंद्र फडणवीस ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा हम रैली में किराए पर कुर्सी लाते हैं, लेकिन वो नेताओं को

इसके अलावा नरेंद्र नाग और हरि सिंह सिदार बतौर निर्दलीय हैं. इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के विक्रम उसेंडी ने जीत दर्ज की थी. विक्रम उसेंडी को चार लाख 65 हजार 215 वोट यानी 45.75 फीसदी वोट मिले थे, जबकि फूलो देवी नेतम को 4 लाख 30 हजार 57 वोटों से संतोष करना पड़ा था.

First Published : 14 Apr 2019, 03:37:28 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो