logo-image
लोकसभा चुनाव

मोदी के काम देखकर कांग्रेस के शहजादे को बुखार आ जाता है : PM नरेंद्र मोदी

Lok Sabha Election 2024: देश में लोकसभा चुनाव का तीसरा चरण नजदीक आता देख राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है.

Updated on: 02 May 2024, 05:46 AM

New Delhi:

Lok Sabha Election 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात के साबरकांठा में एक जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि 2014 में जब आपने मुझे दिल्ली भेजा- तो चुनौतियों को चुनौती देने के लिए भेजा था. चुनौतियों को टालने के लिए नहीं... चुनौतियों से टकराने के लिए भेजा था. इस मिट्टी में वो ताकत है और दुनिया ने महात्मा गांधी में वो ताकत देखी थी. देश ने सरदार वल्लभ भाई पटेल में वो ताकत देखा था... इस मिट्टी में वो ताकत है जिसने मुझे पाला, पोसा और बड़ा किया और मैं आप सबकी सेवा करने में दिन-रात खपाता रहता हूं.   

आज मैं संतोष के साथ कह सकता हूं कि मैं कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ी और ये कांग्रेस के लोग देश को डराते थे कि राम मंदिर बनेगा तो देश में आग लग जाएगी. लेकिन राम मंदिर शान से बनकर तैयार हुआ और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा भी हुई. देश ने इसे उत्सव के रूप में मनाया.  देश में तो आग नहीं लगी, लेकिन कांग्रेस के दिलों में जो आग लगी है, वो कोई बुझा नहीं सकता. कांग्रेस ने वोट बैंक की राजनीति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का न्योता ठुकरा दिया. वोट बैंक की राजनीति में ये इतने डूबे हुए हैं कि अपना संतुलन खो बैठे हैं. 

ये कहते थे कि जम्मू-कश्मीर से अगर धारा 370 हटेगी, तो देश टूट जाएगा, खून की नदियां बह जाएंगी, लेकिन उनको ये पता नहीं है कि ये मोदी है, आज जम्मू-कश्मीर में आन-बान-शान से तिरंगा लहरा रहा है. देश में हमारी मुस्लिम बहनें, वोट बैंक की राजनीति का शिकार हुईं हैं. शहबानो केस में इन्होंने (कांग्रेस) सुप्रीम कोर्ट का अपमान करके कानून बना दिया और मुस्लिम बहनों को संरक्षण नहीं दिया. आज कांग्रेस के शहजादे संविधान लेकर घूम रहे हैं.  जबकि तीन तलाक खत्म होने से न सिर्फ मुस्लिम बहनों को सुरक्षा मिली, बल्कि इससे पूरे परिवार को सुरक्षा मिली है.

मोदी के काम देखकर कांग्रेस के शहजादे को बुखार आ जाता है और बुखार में इंसान कुछ भी बोल देता है.  शहजादे कह रहे हैं कि अगर मोदी तीसरी बार आया तो फिर देश में आग लग जाएगी. पता नहीं इनके दिमाग में आग कहां से भर गई है. दरअसल, कांग्रेस के सपने आग में राख हो चुके हैं. कांग्रेस और इंडी गठबंधन की रणनीति एक है कि देश में अराजकता फैलाओ, अस्थिरता फैलाओ ताकि देश मुश्किल में आ जाए, क्योंकि इन्हें मोदी को बदनाम करना है. उन्होंने कोरोना के दौरान भी यही खेल खेला, CAA को लेकर भी झूठ फैलाने का काम किया. आज भी कांग्रेस अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है. ये जब भी चुनाव हारते हैं तो बहाना ढूंढते हैं और कहते हैं ईवीएम ने मार दिया, ईवीएम ने मार दिया.  और जहां चुनाव जीत जाएं तो... चुप. अभी सुप्रीम कोर्ट ने इन्हें करारा चाटा मारा है.