logo-image
लोकसभा चुनाव

UP: इटावा में बोले PM मोदी- शहज़ादे का इस बार मंदिर दर्शन बंद है

UP: देश में लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी हलचल तेज है...बीजेपी और कांग्रेस समेत सभी दलों ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है.

Updated on: 05 May 2024, 05:34 PM

New Delhi:

Lok Sabha Election 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश इटावा में एक चुनावी रैली को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि अब ये हमारा लोकतंत्र और हमारे संविधान को लेकर झूठ फैलाने में एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं. क्योंकि मोदी ने इनके तुष्टिकरण की पोल खोल दी है. हमारे संविधान निर्माताओं ने कहा था कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं होगा, लेकिन अब सपा-कांग्रेस SC-ST-OBC का आरक्षण छीनकर धर्म के आधार पर बांटना चाहते हैं. कर्नाटक में इन्होंने रातों-रात सभी मुस्लिमों को OBC घोषित कर दिया.

सपा-कांग्रेस की बातें झूठी, वादे भी झूठे हैं- पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि सपा-कांग्रेस की बातें झूठी, वादे भी झूठे हैं. सपा-कांग्रेस के नारे झूठे और नीयत में भी खोट है. ये लोग लगातार झूठ बोलेंगे, उससे चाहे देश का, समाज का कितना ही नुकसान क्यों न हो.  इन लोगों ने देश को कोरोना के संकटकाल में भी नहीं छोड़ा था. मोदी तब एक-एक जीवन बचाने में जुटा था. देश के वैज्ञानिकों ने टीका बनाया, लेकिन सपा के, कांग्रेस के लोग इसको भी बदनाम करते थे.  खुद चोरी चुपके टीके लगवाते थे, लेकिन टीवी पर लोगों को भड़काते थे, ताकि हाहाकार फैले और पाप मोदी के माथे पर लगे.

 इस बार मंदिर दर्शन बंद हो गया- पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पांच साल पहले कांग्रेस का शाही परिवार चुनाव के समय मंदिर-मंदिर घूम रहा था. कांग्रेस के शहज़ादे ने कोट के ऊपर जनेऊ पहन लिया था लेकिन इस बार मंदिर के दर्शन बंद. इतना ही नहीं 500 साल बाद एक ऐतिहासिक पल आया पूरा देश भव्य राम मंदिर बनने के खुश हुआ लेकिन इन्होंने प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण भी ठुकरा दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस इलाके में आकर मुझे 2019 के चुनाव के पहले की बात याद आ रही है जब संसद का सत्र चल रहा था और संसद में स्वर्गीय मुलायम सिंह जी भाषण के लिए खड़े हुए. मुलायम जी ने संसद में कहा था कि मोदी जी आप तो दोबारा जीतकर आने वाले हैं। नेता जी हमारे बीच नहीं है लेकिन संयोग से उनके सगे भाई भाजपा को जीताने की अपील कर रहे हैं। उनके दिल की बात ज़ुबान पर आ ही गई.