News Nation Logo

BREAKING

Banner

परिणाम घोषित होने में देरी के बावजूद विपक्षी दल ईवीएम और वीवीपैट की पर्चियों से मिलान को तैयार

विपक्षी दल चुनाव परिणामों की घोषणा में पांच दिनों के विलंब के लिए भी तैयार हैं. बशर्ते चुनाव आयोग ईवीएम में पड़े 50 फीसदी मतों का वीवीपैट से निकली पर्चियों से मिलान करे.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 07 Apr 2019, 04:00:41 PM
सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली.:

देश के 21 विपक्षी राजनीतिक दलों ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर कहा है कि वह चुनाव परिणामों की घोषणा में पांच दिनों के विलंब के लिए भी तैयार हैं. बशर्ते चुनाव आयोग ईवीएम में पड़े 50 फीसदी मतों का वीवीपैट से निकली पर्चियों से मिलान करे.

शनिवार को दाखिल हलफनामे में तेलुगूदेशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने कहा, 'आम चुनाव के परिणामों में यदि पांच दिन का विलंब होता है, तो यह कोई लंबा इंतजार नहीं होगा. खासकर जब इस प्रक्रिया से चुनावी प्रक्रिया की निष्पक्षता और विश्वास बहाली हो रही है.' इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि परिणामों की घोषणा में विलंब तभी संभव है जब चुनाव आयोग इस मिलान और गणना के लिए जरूरी अतिरिक्त मानव श्रम न लगाए. अगर अतिरिक्त मानव श्रम लगा दिया जाए तो उसी दिन परिणाम प्राप्त किए जा सकेंगे.

गौरतलब है कि सर्वोच्च अदालत ने ईवीएम में डाले गए मतों के 50 फीसदी मतों को वीवीपैट से निकली पर्ची मिलान पर परिणाम घोषित करने की प्रक्रिया में पांच दिन की देरी का अंदेशा जताया था. इस पर सर्वोच्च न्यायालय ने 8 अप्रैल तक विपक्षी दलों से अपना पक्ष स्पष्ट कर जवाब दाखिल करने को कहा था. इसके पहले विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर ईवीएम में पड़े वोटों में से 50 फीसदी को वीवीपैट की पर्चियों से मिलान करने को कहा था.

इस हलफनामे पर चंद्रबाबू नायडू के साथ कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल, आप के अरविंद केजरीवाल, सपा के अखिलेश यादव, एनसीपी के शरद पवार, टीएमसी के डेरेक ओ ब्रायन, नेशनल कांफ्रेस के फारुख अब्दुल्ला और जनता दल एस के दानिश अली के नाम भी शामिल हैं.

First Published : 07 Apr 2019, 03:37:03 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो