News Nation Logo
Banner

लाल कृष्‍ण आडवाणी के ब्लॉग पर ममता-राहुल खुश तो ये बोले PM नरेंद्र मोदी

लालकृष्ण आडवाणी ने काफी लंबे अरसे बाद ब्लॉग लिखा तो विपक्ष खुश हो गया. इस पर पीएम नरेंद्र मोदी ने अपना रिएक्‍शन दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 04 Apr 2019, 09:05:59 PM
पीएम नरेंद्र मोदी के साथ लाल कृष्‍ण आडवाणी (File)

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ लाल कृष्‍ण आडवाणी (File)

नई दिल्‍ली:

बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और मार्गदर्शक मंडल के सदस्य लाल कृष्ण आडवाणी का जैसे ही गुरुवार को ब्लॉग आया विपक्ष खुश हो गया. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी प्रतिक्रिया देने में देर नहीं की. राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने अपने गुरु के लिए क्या किया है, क्या यह हिन्दू धर्म है, मोदी हमें हिन्दू धर्म सिखाएंगे. वहीं इस ब्लॉग पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आडवाणी जी पूरी तरह से बीजेपी का असली सार बताते हैं, विशेष रूप से 'राष्ट्र प्रथम, पार्टी नेक्स्ट, सेल्फ लास्ट. ' लालकृष्ण आडवाणी जी ने इसे मजबूत किया है.

बता दें बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने काफी लंबे अरसे बाद ब्लॉग लिखा है. इस ब्लॉग के जरिए आडवाणी ने बीजेपी के तौर-तरीके पर सवाल उठाए. लालकृष्ण आडवाणी ने कहा, 'बीजेपी ने शुरू से ही राजनीतिक विरोधियों को दुश्मन नहीं माना, जो हमसे राजनीतिक तौर पर सहमत नहीं है, इन्हें देश विरोधी नहीं माना. पार्टी, हर नागरिक के चुनने की आजादी के लिए प्रतिबद्ध रही है. निजी तौर पर भी और राजनीतिक तौर पर भी.

यह भी पढ़ेंः Lok Sabha Election : पहली बार लालकृष्ण आडवाणी के बिना चुनाव लड़ेगी बीजेपी, क्या हो पाएगी नैया पार

बीजेपी नेता आडवाणी ने आगे लिखा कि उनके जीवन का सिद्धांत रहा है पहले राष्ट्र, फिर दल और अंत में मैं...और मैंने हमेशा उसपर चलने की कोशिश की है. भारतीय लोकतंत्र की ख़ासियत रही है विविधता और अभिव्यक्ति की आज़ादी.


नागपुर में राहुल गांधी ने कहा कि जब मोदी कभी भी 'नफरत' फैलाते हैं, तो पहले देखिए कि मोदी ने अपने गुरु के लिए क्या किया है, क्या यह हिन्दू धर्म है, मोदी हमें हिन्दू धर्म सिखाएंगे. उन्हें किसने ऐसा हिन्दू धर्म सिखाया है, जिसमें गुरु के साथ ऐसा व्यवहार किया जाना चाहिए.

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्विटर पर लिखा, 'वरिष्ठतम राजनीतिज्ञ, पूर्व डिप्टी पीएम और भाजपा के संस्थापक आडवाणी जी ने लोकतांत्रिक शिष्टाचार के बारे में जो विचार व्यक्त किया है, वह महत्वपूर्ण है. बेशक, सभी विपक्ष जो अपनी आवाज उठाते हैं, वे राष्ट्र विरोधी नहीं हैं. हम उनके बयान का स्वागत करते हैं.'

First Published : 04 Apr 2019, 08:48:48 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो