logo-image
लोकसभा चुनाव

MP: चुनाव के ऐलान के बाद पहली बार पहुंचे PM Modi, जबलपुर में निकाला भव्य रोड शो 

पीएम नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के जबलपुर पहुंचे हैं. यहां पर उन्होंने भगत सिंह चौक से बड़ा रोड शो निकाला. भाजपा की ओर से जबलपुर लोकसभा सीट से अशीष दुबे को मैदान में उतारा गया है.

Updated on: 08 Apr 2024, 06:33 AM

नई दिल्ली:

पीएम नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश के जबलपुर में रोड शो निकाला. इस रोड शो का आरंभ शहर के भगत सिंह चौक से किया गया. यह रोड शो करीब 1.2 किलोमीटर लंबा था. इसका समापन शंकराचार्य चौक पर किया गया. पीएम मोदी खुली जीप में सवार होकर निकले. उनके साथ मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव भी शामिल हुए. पीएम मोदी ने अपने हाथ में कमल का निशान लेकर लोगों का अभिवादन किया. रोड शो में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला. 

पीएम मोदी के स्वागत में रोड शो में दोनों ओर से कहीं नृत्य तो कहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम होता दिखाई दिया. कुछ महिलाएं पारंपरिक पोशाक में पीएम मोदी पर फूल बरसाती दिखाई दीं. पीएम मोदी की एक झलक को पाने के लिए लोग सड़कों पर उतर आए. सड़क के दोनों ओर से कार्यकर्ताओं और समर्थकों की भारी भीड़ देखने को मिली. पीएम मोदी के रोड शो को देखते हुए जबलपुल बाजार को फूलों और लाइट से सजाया गया. 

19 अप्रैल को वोटिंग 

आपको बता दें कि आचार संहिता के लागू होने के बाद से पीएम मोदी का रविवार को मध्य प्रदेश में यह पहला दौरा है. इस क्षेत्र में आदिवासी वोटरों की बड़ी तादात है. यहां पर 19 अप्रैल को वोटिंग होगी. जबलपुर लोकसभा सीट पर भाजपा ने आशीष दुबे को टिकट दिया है. वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने दिनेश यादव को चुनावी मैदान में उतारा है. 

लोकसभा की 29 सीट हैं 

मध्य प्रदेश में लोकसभा की 29 सीटें मौजूद हैं. भाजपा की नजर सभी सीटों पर है. इस कारण बीजेपी महाकौशल क्षेत्र की सीटों पर पूरे दमखम के साथ चुनाव प्रचार में जुटी हुई है. महाकौशल क्षेत्र की छिंदवाड़ा की सीट मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ का गढ़ कही जाती है. इस तरह से जबलपुर में पीएम मोदी के रोड शो का असर सीधे छिंदवाड़ा की सीट पर देखा जा सकता है. मध्य प्रदेश के जबलपुर में रोड शो करने से पहले पीएम ने आज सुबह बिहार के नवादा पहुंचे. यहां, पीएम ने एक एक जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने भाजपा के प्रत्याशी विवेक ठाकुर का प्रचार किया. उनके लिए वोट मांगा. पीएम मोदी यहां दोपहर में पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी पहुंचे.