News Nation Logo
Banner

South India Exit Poll: क्या अबकी बार दक्षिण भारत बनाएगा पीएम ?

टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू ने गैर बीजेपी प्रधानमंत्री बनाने के लिए मिशन महागठबंधन शुरू किया है तो स्टालिन पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पीएम पद का दावेदार बना सकते हैं. ऐसे में एक बड़ा प्रश्न उठता है कि क्या दक्षिण भारत की मुहिम से देश को मिलेगा नया पीएम?

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 19 May 2019, 10:03:16 PM
दक्षिण भारत के क्षेत्रीय क्षत्रप क्या बनकर उभरेंगे किंगमेकर.

दक्षिण भारत के क्षेत्रीय क्षत्रप क्या बनकर उभरेंगे किंगमेकर.

नई दिल्ली.:

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान खत्म हो चुका है. अब जनता को चुनाव के नतीजों का इंतजार है. हालांकि नतीजों से पहले हर कोई जानना चाहता है कि अबकी बार किसकी सरकार बनेगी ? इसी के मद्देनजर मतदान खत्म होते ही NewsState.com आपके लिए उत्तर प्रदेश का सबसे सटीक एग्‍जिट पोल (Exit Poll) लेकर आया है. इस Exit Poll में दक्षिणभारत के प्रमुख राज्यों मसलन तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश, केरल, कर्नाटक आदि में 7 चरणों में हुए मतदान के दौरान मतदाताओं के रुझान का जायजा लेकर यह समझने का प्रयास किया गया है कि इस बार किस दल को कितनी सीटें मिल सकती हैं. 5 बजे से इसे हमारे न्‍यूज चैनल News State पर दिखाया जाएगा. इसके अलावा इसकी पूरी डिटेल NewsState.com पर देख सकते हैं.

केरल में खाता खोल रही बीजेपी

हालांकि बीजेपी के लिए बहुत अच्छे संकेत हैं मोदी लहर के बावजूद 2014 में खाता खोलने में नाकाम रही बीजेपी केरल में इस लोकसभा चुनाव 2019 में कम से कम एक तो अधिकतम 3 सीटें दे रहे हैं.

केरल

यूडीएफ से गठबंधन कर कांग्रेस 11 से 13 जीत सकती है. सीपीएम नीत एलडीएफ गठबंधन 5 से 7 सीटें हासिल कर सकती है.

कर्नाटक

बीजेपी एक्जिट पोल के
लिहाज से अधिकतम 19 सीटें प्राप्त करती नजर आ रही है. वहीं, कांग्रेस अपना पिछला प्रदर्शन बरकरार रखने में सफल रहेगी. फिलहाल उसके खाते में 9 से 11
सीटें आ सकती हैं.

आंध्रप्रदेश

तेलुगू देशम पार्टी प्रमुख और सीएम चंद्रबाबू नायडू अपनी ही प्रतिष्ठा
बचाते नजर नहीं आ रहे हैं. उन्हें 2014 के लिहाज से आधी सीटों से संतोष करना पड़ सकता है. एक्जिट पोल के मुताबिक टीडीपी को 7 से 9 सीटों पर संतोष करना
पड़ सकता है.

कांग्रेस, सीपीआई और अन्य के साथ मिलकर डीएमके कम से कम 27 तो अधिकतम 29 सीटों पर कब्जा करने जा
रही है. इसके उलट बीजेपी नीत एआईडीएमके गठबंधन 8 से 10 सीटें ला रहा है.

यूडीएफ से गठबंधन कर कांग्रेस 11 से 13 जीत सकती है. सीपीएम नीत एलडीएफ गठबंधन 5 से 7 सीटें हासिल कर सकती है.

बीजेपी एक्जिट पोल के लिहाज से अधिकतम 19 सीटें प्राप्त करती नजर आ रही है. कांग्रेस अपना पिछला प्रदर्शन बरकरार रखने में सफल रहेगी. फिलहाल उसके खाते में 9 से 11 सीटें आ सकती हैं.

कांग्रेस, सीपीआई और अन्य के साथ मिलकर डीएमके कम से कम 27 तो अधिकतम 29 सीटों पर कब्जा करने जा रही है. एआईडीएमके, बीजेपी, पीएमके व अन्य गठबंधन को 8 से 10 सीटें मिल रही हैं.

दिल्ली में गठबंधन सरकार चलाने का अच्छा-खासा अनुभव रखने वाली सोनिया गांधी ने गैर बीजेपी खासकर दक्षिण की पार्टियों से ताल-मेल बनाने के लिए एक कोर कमेटी तक का गठन कर दिया है. यह कमेटी 23 मई को परिणाम आने के बाद के परिदृश्य को ध्यान में रखकर रणनीति पर काम कर रही है. 

विपक्ष यह मान कर चल रहा है कि 17वीं लोकसभा में किसी एक पार्टी को बहुमत मिलने नहीं जा रहा है. ऐसे में चंद्रबाबू नायडू के प्रयासों के साथ ही कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने भी अपने स्तर पर प्रयास शुरू कर दिए हैं. 

बीजेपी दे पाएगी टीडीपी को टक्कर

आंध्र प्रदेश में लोकसभा की 25 सीटों पर फिलहाल तेलुगू देशम पार्टी का ही दबदबा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में टीडीपी ने 15 सीटें जीती थीं. वायएसआरसीपी ने 8 तो 2 पर अन्य विजयी रही थीं. कुल 3 करोड़ 67 लाख और 57 हजार के आसपास मतदाताओं ने 2019 में मतदान किया है.

First Published : 19 May 2019, 10:03:16 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो